स्टाइल का नया फंडा- टी शर्ट

अटपटी-चटपटी लिखी ये बातें किसी न किसी तरह आकर्षित करती है

अंतिम अपडेट: Aug 21, 2011, 12:29 PM IST

नई दिल्ली। कभी किसी के टी- शर्ट पर ‘यूनो वॉट योर प्रॉबलम इज’, ‘यू आर स्टुपिड’. ‘ओह! आई फॉरगेट’, ‘यू आर इडियट’, ‘आई एम नॉट डम्ब, ‘एज यू लुक’ लिखा देखा है?   

आखिर लोग ऐसा क्यों करते हैं. हम अक्सर ऐसे वाक्य चलते हुए भी पूरे पढ़ ही लेते हैं. थोड़ा अजीब भी लगता है. पर क्या करें टी-शर्ट पर लिखी यह इबारतें इतना लालच देती हैं कि जब तक पूरा न पढ़ लें चैन ही नहीं आता. अटपटी-चटपटी लिखी ये बातें किसी न किसी तरह आकर्षित करती है. यही कारण है कि टी-शर्ट यंगिस्तान का लोकप्रिय फैशन फंडा बन गया है.

यह सिर्फ स्टाइल स्टेटमेंट ही नहीं आपके व्यकित्व को भी बयां करती हैं. कई मनोवैज्ञानिक सर्वे से भी इस बात का खुलासा हुआ है कि टी-शर्ट पर लिखे वाक्यों उस व्यक्ति का स्वभाव भी बताता है. कई युवा इतने क्रेजी होते हैं कि वे अलग स्लोगन टी-शर्ट को खोजने के लिए पूरा मार्केट छान मारते हैं. टी-शर्ट स्लोगन का क्रेज इसी बात से पता चलता है कि कई नामी कॉलेजों में बाकायदा हर साल टी-शर्ट स्लोगन प्रतियोगिता आयोजित की जाती है.

इन टी- शर्ट में कुछ ऐसी पंक्तियां मिल जाती है जो आपको योचने को मजबूर कर दे. लड़कियों को तंज कसना तो जैसे जन्मसिद्ध अधिकार है. यकीन न हो तो ये देखिए, ‘गर्लफ्रेंड- दे आर ए पेन इन द केस’. तू डाल-डाल तो मैं पात-पात. आपको क्या लगा सिर्फ लड़कों के टी- शर्ट में ही ऐसा है. यहां तो नहले पर दहला है, ‘ऑल मेन आर इडियट्स, ‘आई मेरिड देयर किंग’ और बाकी तो ऐसे भी होते हैं, जो खुद को जरा हट के दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ते. गौर फरमाइए, ‘आई एम लॉस्ट, प्लीज टेक मी होम विद यू’.

कुछ करे न करे, फर्क पड़े या न पड़े ये कोटेशन आपके चेहरे पर भी मुस्कान जरूर ले आएगा. बाजार में जाने से पता चलता है कि ज्यादातर कॉलेज जानेवाले या युवा, वर्किग लोग इन टी-शर्ट को पहनना पसंद करते हैं, पर इसके साथ ही कई लोगों को इन टी-शर्ट पर लिखे कोटेशन बिल्कुल पसंद नहीं आते.

आजकल सबसे ख़ास स्लोगन है ‘मैं अन्ना हूं’. कुछ युवा ‘मैं अन्ना के साथ हूं’ स्लोगन वाली टी-शर्ट पहनकर उनका समर्थन जता रहे हैं.

Tags: