अब जीवाणु कम करेगा मोटापा!

विज्ञान और तकनीक नित नए खोज और शोध में आगे बढ़ रहे हैं। इन्हीं वैज्ञानिक शोधों का परिणाम है कि उन्होनें एक ऐसा जीव खोज निकाला है जिससे कि मोटापे को कंट्रोल किया जा सकता है।

Updated: May 22, 2013, 12:27 AM IST

नई दिल्ली: विज्ञान और तकनीक नित नए खोज और शोध में आगे बढ़ रहे हैं। इन्हीं वैज्ञानिक शोधों का परिणाम है कि उन्होनें एक ऐसा जीव खोज निकाला है जिससे कि मोटापे को कंट्रोल किया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने पेट में रहने वाले एक जीवाणु का इस्तेमाल जानवरों में मोटापे को कम करने तथा टाइप-टू मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए किया है।
यह परीक्षण सबसे पहले चूहों पर किया गया है। जीवाणु की एक प्रजाति से युक्त शोरबा पीने से मोटे चूहों के स्वास्थ्य में बदलाव देखा गया। माना जा रहा है कि ये जीवाणु पेट की भीतरी झिल्ली में बदलाव करता है और भोजन के पचने के तरीके को भी बदल देता है। ये जीवाणु पेट की आंतरिक झिल्ली में श्लेष्मा का स्तर बढ़ा देता है।
अब जबकि ये परिक्षण सफल रहा है तो वैज्ञानिक इसे मनुष्यों पर आजमाने कि तैयारी में लगे है ताकि इस बात का पता लगाया जा सके कि ये जीवाणु उनका मोटापा कम कर सकता है या नहीं। मानव शरीर में अनगिनत जीवाणु रहते हैं और इनकी संख्या शरीर की कुल कोशिकाओं से दस गुना ज्यादा है। (एजेंसी)