सेहत का खजाना है मूंगफली

Last Updated: Wednesday, December 19, 2012 - 09:21

ज़ी न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली: मूंगफली सेहत का खजाना है और खासकर इसे जाड़े का यह बादाम कहा जाता है। मतलब कि एक बादाम जाड़े में जितना फायदा देता है मूंगफली भी सेहत के लिहाज से उनता फायदा देती है।
यह वनस्पतिक प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत भी हैं। 100 ग्राम कच्ची मूंगफली में 1 लीटर दूध के बराबर प्रोटीन होता है। मूंगफली में प्रोटीन की मात्रा 25 प्रतिशत से भी अधिक होती है। साथ ही मूंगफली पाचन शक्ति बढ़ाने में भी कारगर है। 250 ग्राम भूनी मूंगफली में जितनी मात्रा में खनिज और विटामिन पाए जाते हैं, वो 250 ग्राम मांस से भी प्राप्त नहीं हो सकता है। मूंगफली खाने के ढेरों लाभ है और खासकर जाड़े में तो इसके लाभ और भी बढ़ जाते है।
मूंगफली में न्यूहट्रियन्टीस, मिनरल, एंटी-ऑक्सीडेंट और विटामिन जैसे पदार्थ पाए जाते हैं, जो सेहत के लिये बहुत ही लाभप्रद साबित होता है। इसमें प्रोटीन, चिकनाई और शर्करा पाई जाती है। एक अंडे के मूल्य के बराबर मूंगफलियों में जितनी प्रोटीन व ऊष्मा होती है, उतनी दूध व अंडे से संयुक्त रूप में भी नहीं होती।
मूंगफली के खाने से दूध, बादाम और घी की पूर्ति हो जाती है। एक सर्वे के मुताबिक जिन लोगों के रक्त में ट्राइग्लाइसेराइड का लेवल अधिक होता है, वे अगर मूंगफली खाएं, तो उनके ब्लड के लिपिड लेवल में ट्राइग्लाइसेराइड का लेवल 10 फीसदी कम हो जाता है।
अगर आप सर्दी के मौसम में मूंगफली खाएंगे तो आपका शरीर गर्म रहेगा। यह खाँसी में उपयोगी है व फेफड़े को बल देती है। एक बात ध्यान रखने की है कि मूंगफली पाचन शक्ति को बढ़ाती है, रुचिकर होती है, लेकिन गरम प्रकृति के व्यक्तियों को हानिकारक भी है।



First Published: Wednesday, December 19, 2012 - 09:14


comments powered by Disqus