अक्टूबर में कारों की बिक्री 4% घटी, बाइक की रिकॉर्ड बिक्री

Last Updated: Tuesday, November 12, 2013 - 20:03

नई दिल्ली : आर्थिक हालात में नरमी के मद्देनजर देश में कारों की बिक्री अक्टूबर माह के दौरान 3.88 प्रतिशत घटी है। हालांकि, इससे पहले दो महीने बिक्री बढ़ी थी। ग्रामीण मांग बढ़ने से मोटरसाइकिल विनिर्माताओं के लिए अक्टूबर का महीने अच्छा रहा। उद्योग संगठन सियाम द्वारा 1997-98 में बिक्री के आंकड़े जुटाने के बाद से अब तक किसी एक माह में मोटरसाइकिल की रिकार्ड बिक्री हुई।
सोसायटी ऑफ इंडियन आटोमोबाइल मैन्यूफैक्चर्स (सियाम) द्वारा जारी आंकड़ों के मुातबिक देश में अक्टूबर माह में 1,63,199 कारों की बिक्री हुई जबकि पिछले साल के इसी महीने 1,69,788 कारें बिकी थीं। सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने यहां संवाददाताओं से कहा, उंची मुद्रास्फीति और ब्याज दर के आज के आर्थिक हालात में मध्य वर्ग सबसे अधिक प्रभावित है, ऐसे में हमें कार बिक्री में लगातार गिरावट दिखाई देती है। उन्होंने हालांकि, कहा कि त्योहारी मौसम के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों से अच्छी मांग रही। बेहतर मानसून के मद्देनजर ग्रामीण बाजार से मांग बढ़ना जिसके कारण छोटी कारों के वर्ग में कुछ आकर्षण बना रहा।
उन्होंने कहा, कारों की बिक्री में जो हल्की गिरावट रही उसकी एकमात्र वजह यही रही अन्यथा गिरावट कहीं तीव्र होती। भारत में कारों की बिक्री इस साल जुलाई तक लगातार नौ महीने तक घटी लेकिन अगस्त और सितंबर में इसमें बढ़त दर्ज की गई। बाजार की प्रमुख कंपनी मारुति सुजुकी की अक्टूबर माह में कारों की घरेलू बिक्री मामूली घटकर 79,040 रही जबकि प्रतिद्वंद्वी कंपनी हुंदै मोटर इंडिया की बिक्री आंशिक रूप से बढ़कर 35,973 इकाई रही।
घरेलू वाहन कंपनी टाटा मोटर्स की घरेलू बाजार में कार बिक्री अक्टूबर माह के दौरान 33.44 प्रतिशत घटकर 10,944 इकाई रह गई। महिंद्रा एंड महिंद्रा के यूटिलिटी वाहनों की बिक्री इस महीने 13.18 प्रतिशत घटकर 22,034 इकाई रही। सियाम ने कहा कि अक्तूबर में यूटिलिटी वाहनों की बिक्री 7.01 प्रतिशत बढ़कर 57,020 इकाई रही जो पिछले साल के इसी महीने 53,285 इकाई थी।
माथुर ने कहा फोर्ड इकोस्पोर्ट और निसान टेरैनो जैसे नए माडल के कारण इस खंड की बिक्री बढ़ रही है। कुछ सुधार की उम्मीद जताते हुए माथुर ने कहा, यदि आप चालू वित्त वर्ष में कार बिक्री में गिरावट की दर पर निगाह डालें तो पता चलता है कि इसमें लगातार गिरावट दर्ज हो रही है। ग्रामीण मांग के सकारात्मक संकेत है लेकिन यह नहीं पता कि यह बरकरार रहेगी या नहीं। सियाम ने कहा कि अक्टूबर में मोटरसाइकिल की बिक्री 18.05 प्रतिशत बढ़कर 11,05,103 इकाई हो गई जो पिछले साल के इसी माह में 9,36,122 थी।
सियाम के मुताबिक बाजार का नेतृत्व करने वाली कंपनी हीरो मोटोकार्प की मोटरसाइकिल बिक्री अक्तूबर 2013 में 20.76 प्रतिशत बढ़कर 5,54,545 इकाई रही। प्रतिद्वंद्वी कंपनी बजाज आटो की बिक्री हालांकि 12.51 प्रतिशत घटकर 2,28,998 इकाई रही जबकि होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) की बिक्री 54.69 प्रतिशत बढ़कर 1,72,075 इकाई हो गई। समीक्षाधीन अवधि में दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 18 प्रतिशत बढ़कर 15,16,291 इकाई हो गई जो पिछले साल की इसी अवधि में 12,85,015 इकाई रही थी।
माथुर ने कहा, इस साल अच्छी बारिश के कारण ग्रामीण बाजार में दोपहिया वाहनों की मांग अच्छी रही। अक्टूबर में कुल स्कूटर बिक्री 23.89 प्रतिशत बढ़कर 3,46,171 इकाई रही जो पिछले साल इसी माह में 2,79,427 इकाई रही थी।
बाजार की प्रमुख कंपनी एचएमएसआई की स्कूटरों की बिक्री 50.66 प्रतिशत बढ़कर 1,88,075 इकाई हो गई जबकि हीरो मोटोकार्प के स्कूटरों की बिक्री 6.31 प्रतिशत बढ़कर 59,579 इकाई थी। टीवीएस मोटर कार्प की बिक्री हालांकि 5.21 प्रतिशत घटकर 40,818 इकाई रही।
सियाम के मुताबिक वाणिज्यिक वाहनों की कुल बिक्री 19.77 प्रतिशत घटकर 53,533 इकाई रही जो पिछले साल इसी अवधि में 66,722 इकाई रही थी। माथुर ने कहा, यह मौजूदा आर्थिक हालात की छवि है। वाणिज्यिक वाहन खंड आर्थिक वृद्धि का संकेतक है। फिलहाल बुनियादी ढांचा और खनन क्षेत्र में कुछ नहीं हो रहा है।’’ सियाम ने कहा कि अक्तूबर में विभिन्न खंडों में वाहनों की कुल बिक्री 12.56 प्रतिशत बढ़कर 18,58,386 इकाई रही जो अक्तूबर 2012 में 16,51,028 इकाई थी। (एजेंसी)



First Published: Tuesday, November 12, 2013 - 14:59


comments powered by Disqus