31 मार्च के बाद 2005 के पहले के छपे नोट (रुपया) नहीं चलेंगे, पहले के सभी नोट वापस लेगा RBI

Last Updated: Wednesday, January 22, 2014 - 22:40

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक ने आज कहा कि 2005 से पहले जारी सभी करेंसी नोट 31 मार्च 2014 के बाद वापस लिए जाएंगे। यानी 2005 से पहले के छपे सभी नोट रद्दी हो जाएंगे।
नौ साल पहले के सभी नोट 31 मार्च के बाद नहीं चलेंगे। रिजर्व बैंक ने कहा कि लोग ऐसे करेंसी नोटों को बैंकों में बदल लें, जिनके पीछे प्रकाशन का वर्ष नहीं है।
जिन नोटों पर छपाई का साल नहीं होगा, वे भी बदले जाएंगे। यानी 31 मार्च के बाद पुराने नोट नहीं चलेंगे।
31 मार्च 2014 तक आरबीआई सभी पुराने नोटों का सर्कुलेशन बंद कर देगा। 1 अप्रैल 2014 से लोगों को पुराने नोट बदलवाने के लिए बैंकों के पास जाना होगा। बैंक अपने ग्राहक और दूसरे लोगों से नोट बदलेंगे। वहीं 1 जुलाई 2014 के बाद 500 या 1000 के नोट बदलने के लिए पहचान बतानी होगी। 100 या 500 के 10 से ज्‍यादा नोट बदलवाने के लिए उन्‍हें आईडी प्रूफ दिखाना होगा। आरबीआई के मुताबिक जो बैंक ग्राहक नहीं है उन्हें बैंक ब्रांच में पहचान यानी एड्रेस प्रूफ देना होगा।
हम आपको बता दें कि 2005 के पहले के नोटों की पहचान कैसी की जाए। 2005 के पहले नोटों को पहचानना बहुत ही आसान है। दरअसल 2005 के पहले छपे नोटों पर प्रिटिंग का साल नहीं छपा है। वहीं 2005 के बाद छपे नोटों में आप साल देख सकते हैं।
लोग आसानी से 2005 से पहले जारी करेंसी नोट की पहचान कर सकते हैं। ऐसे नोट के पिछले हिस्से में प्रकाशन का वर्ष नहीं छपा है। वर्ष 2005 के बाद जारी सभी करेंसी नोट के पिछले भाग के नीचे मध्य में प्रकाशन का वर्ष छपा है।
रिजर्व बैंक (RBI) ने इसके साथ ही लोगों से इस मामले में किसी तरह की हड़बड़ी नहीं करने तथा वापसी प्रकिया में सहयोग करने की अपील की है। इसका कहना है कि एक अप्रैल के बाद भी पुराने नोट वैध होंगे और इन्हें किसी भी बैंक में बदला जा सकता है। इसके अनुसार एक अप्रैल 2014 के बाद लोगों को इस तरह के नोटों को बदलने के लिए बैंकों से संपर्क करना होगा। बैंक इस तरह की अदला बदली की सुविधा उपलब्ध कराएंगे।
इस समय मुद्रा नोट 5 रु., 10 रु., 20 रु., 50 रु., 100 रु., 500 रु. तथा 1000 रुपए मूल्य में जारी किए जाते हैं।
2005 से पहले जारी सभी करेंसी नोट वापस लेने का फैसला भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कालेधन और नकली नोटों की समस्या से निपटने के लिए लिया है। इसके तहत 500 रुपए और 1000 रुपए सहित सभी मूल्य के नोट वापस लिए जाएंगे और यह काम एक अप्रैल से शुरू हो जाएगा। केंद्रीय बैंक ने यह कदम काले धन तथा जाली नोटों की समस्या पर काबू पाने के लिए उठाया है।



First Published: Wednesday, January 22, 2014 - 18:48


comments powered by Disqus