शेयर बाजार में गिरावट जारी, सेंसेक्स 113 अंक और लुढ़का

Last Updated: Monday, October 28, 2013 - 18:16

मुंबई : रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति की समीक्षा से पहले निवेशकों ने सतर्कता बरती, जिससे बंबई शेयर बाजार में लगातार पांचवे कारोबारी सत्र में गिरावट आई। अंतिम दौर में चले बिकवाली के दौर से सेंसेक्स 113 अंक की गिरावट से लगभग दो सप्ताह के निचले स्तर पर आ गया।
भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक तथा आईसीआईसीआई बैंक की वजह से सेंसेक्स नीचे आया। हालांकि, एचडीएफसी, लार्सन एंड टुब्रो तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज में लाभ से सेंसेक्स की गिरावट सीमित रही।
रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन द्वारा कल रेपो दरों में चौथाई फीसद बढ़ोतरी के आसार के बीच एफएमसीजी, धातु, रीयल्टी तथा बैंकिंग वर्ग के शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिली। सिगरेट कंपनी आईटीसी का शेयर 3.63 फीसद लुढ़क गया।
बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स मजबूत खुलने के बाद दिन के उच्च स्तर 20,771.36 अंक पर पहुंच गया। उसके बाद चले मुनाफावसूली के दौर से सेंसेक्स 113.24 अंक या 0.55 प्रतिशत के नुकसान से 20,570.28 अंक पर बंद हुआ। यह 17 अक्तूबर के बाद सेंसेक्स का सबसे निचला स्तर है। उस दिन सेंसेक्स 20,415.51 अंक पर बंद हुआ था। इस तरह पिछले पांच कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 324 अंक का नुकसान दर्ज कर चुका है। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 43.80 अंक या 0.71 प्रतिशत के नुकसान से 6,101.10 अंक पर आ गया। कारोबार के दौरान यह दिन के निचले स्तर 6,094.10 अंक पर आ गया था। एमसीएक्स एसएक्स का एसएक्स 40 सूचकांक करीब 60 अंक के नुकसान से 12,249.69 अंक पर बंद हुआ।
बोनान्जा पोर्टफोलियो की वरिष्ठ शोध विश्लेषक निधि सारस्वत ने कहा, निफ्टी स्थिर खुलने के बाद दिनभर बिकवाली दबाव में रहा। रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा से पहले बाजार में उतार-चढ़ाव रहा।
कुछ बैंकों का कहना है कि केंद्रीय बैंक मौद्रिक नीति की तिमाही समीक्षा में कल रेपो दर को 0.25 फीसद बढ़ाकर 7.75 प्रतिशत कर सकता है। इसके अलावा वह नकदी की स्थिति सुधारने के लिए भी कदम उठा सकता है। सितंबर में रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने सभी को हैरान करते हुए रेपो दरों में चौथाई फीसद की बढ़ोतरी की थी। एक ब्रोकर ने कहा कि वायदा और विकल्प खंड के निवेशक गुरवार को डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान से पहले अपने सौदांे को आगे ले जाने के बारे में फैसला करेंगे, इससे बाजार में उतार-चढ़ाव कायम रह सकता है।
चीन, ताइवान, हांगकांग, सिंगापुर तथा दक्षिण कोरिया के बाजारों में बढ़त रही। अमेरिकी उपभोक्ताओं के विश्वास कमजोर स्तर पर रहने के बाद फेडरल रिजर्व द्वारा अपने प्रोत्साहन कार्यक्रम को जारी रखने की उम्मीद बढ़ी है।
सेंसेक्स की कंपनियांे में 22 के शेयरों में गिरावट आई। आईटीसी के अलावा सेसा स्टरलाइट का शेयर 3.26 प्रतिशत लुढ़क गया। टाटा स्टील में 2.94 प्रतिशत, भारतीय स्टेट बैंक में 2.41 प्रतिशत, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज 1.97 प्रतिशत तथा हीरो मोटोकार्प में 1.86 प्रतिशत की गिरावट आई। वहीं दूसरी ओर लार्सन एंड टुब्रो का शेयर 1.89 प्रतिशत बढ़ गया। एचडीएफसी 1.35 प्रतिशत, ओएनजीसी 1.02 प्रतिशत तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज 0.49 प्रतिशत चढ़ गया। (एजेंसी)



First Published: Monday, October 28, 2013 - 18:16


comments powered by Disqus