गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान में शहरी आबादी का खर्च राष्ट्रीय औसत से कम : रपट

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन (एनएसएसओ) के एक सर्वेक्षण के अनुसार गुजरात, तमिलनाडु व राजस्थान की शहरी आबादी का प्रति व्यक्ति मासिक खर्च (एमपीसीई) जुलाई 2011 से जून 2012 के दौरान राष्ट्रीय औसत से कम रहा है।

अंतिम अपडेट: Mar 20, 2014, 10:47 PM IST

नई दिल्ली : राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन (एनएसएसओ) के एक सर्वेक्षण के अनुसार गुजरात, तमिलनाडु व राजस्थान की शहरी आबादी का प्रति व्यक्ति मासिक खर्च (एमपीसीई) जुलाई 2011 से जून 2012 के दौरान राष्ट्रीय औसत से कम रहा है। हालांकि, इसी दौरान इन राज्यों में ग्रामीण उपभोक्ताओं ने राष्ट्रीय औसत से अधिक खर्च किया।
एनएसएसओ के अनुसार जुलाई 2011 से जून 2012 के दौरान औसत मासिक प्रतिव्यक्ति उपभोक्ता खर्च (एमपीसीई) ग्रामीण भारत में 1,430 रुपये जबकि शहरी भारत में यह 2,630 रुपये (लगभग 84 प्रतिशत अधिक) आंका गया।
सर्वे में खुलासा किया गया है, `जिन राज्यों में ग्रामीण एमपीसीई अखिल भारतीय औसत से अधिक रहा उनका शहरी एमपीसीई भी अखिल भारतीय औसत से उंचा देखा गया है। हालांकि, गुजरात, राजस्थान व तमिलनाडु इसका अवपाद हैं जहां ग्रामीण क्षेत्र में एमपीसीई अखिल भारतीय स्तर से उंचा रहा जबकि शहरी क्षेत्र में यह अखिल भारतीय औसत से कम रहा।` गुजरात में शहरी एमपीएसई 2,581 रुपये, राजस्थान में 2,442 रुपये तथा तमिलनाडु में 2,622 रुपये रहा जबकि इसका राष्ट्रीय औसत 2,630 रुपये रहा। (एजेंसी)