कर मुद्दों को लेकर चिदंबरम पर दबाव बनाएंगे अमेरिकी वित्त मंत्री

अमेरिकी वित्त मंत्री जैकब ल्यू आईएमएफ-विश्वबैंक की सालाना बैठकों में हिस्सा लेने आज यहां पहुंचे वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के साथ बातचीत में कराधान के मुद्दों को उठा सकते हैं। साथ ही वह अवैध वित्तीय गतिविधियों का मुकाबला करने में सहयोग बढ़ाने पर भी बातचीत कर सकते हैं।

Updated: Oct 9, 2013, 09:29 AM IST

वाशिंगटन : अमेरिकी वित्त मंत्री जैकब ल्यू आईएमएफ-विश्वबैंक की सालाना बैठकों में हिस्सा लेने आज यहां पहुंचे वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के साथ बातचीत में कराधान के मुद्दों को उठा सकते हैं। साथ ही वह अवैध वित्तीय गतिविधियों का मुकाबला करने में सहयोग बढ़ाने पर भी बातचीत कर सकते हैं।
ल्यू 13 अक्तूबर को भारत अमेरिका आर्थिक व वित्तीय साझीदारी की चौथी वाषिर्क बैठक में चिदंबरम की मेजबानी करेंगे। चिदंबरम 9 से 12 अक्तूबर तक अपने वाशिंगटन प्रवास के दौरान ब्रिक्स वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गर्वनरों की बैठकों के अलावा जी-24 मंत्रिस्तरीय बैठक व जी-20 वित्त मंत्रियों की बैठक में भी हिस्सा लेंगे।
अमेरिकी वित्त मंत्रालय में अंतरराष्ट्रीय मामलों के उप मंत्री लाए ब्रेनार्ड ने कहा, वित्त मंत्री ल्यू फेडरल रिजर्व के चेयरमैन बेन बर्नांके के साथ मिलकर वित्त मंत्री चिदंबरम और आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के साथ प्रमुख वृहद आर्थिक व वित्तीय क्षेत्र के उन मुद्दों पर बात करेंगे जो दोनों देशों की अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित करते हैं। उन्होंने कहा, साझीदारी की चौथी बैठक में ल्यू कर मुद्दों सहित हमारे निजी क्षेत्र के हितों व अवैध धन संबंधी गतिविधियों का मिलकर मुकाबला करने पर जोर देंगे। रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन और आर्थिक मामलों के सचिव अरविंद मायाराम सहित अन्य अधिकारी 11 और 12 अक्तूबर को आईएमएफ-विश्वबैंक की वाषिर्क बैठकों में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि दोनों देश द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों को विस्तार देने के महत्व को समझते हैं। (एजेंसी)