मैं सोचती थी फिल्म उद्योग मेरे बिना बंद हो जाएगा: जूही चावला

Last Updated: Monday, March 3, 2014 - 16:25

मुंबई : अभिनेत्री जूही चावला ने कहा है कि जब वह अपने करियर के शिखर पर थीं तो उन्होंने कई बड़ी फिल्मों के प्रस्ताव ठुकरा दिए थे क्योंकि उन्हें लगता था कि उद्योग उनके बिना बंद हो जाएगा। जूही ने कहा, ‘‘जब आप अपने करियर के शिखर पर होते हैं तो आप जोखिम उठाना बंद कर देते हैं, आप हर फिल्म की मांग बन जाते हैं और आपको लगता है कि आपके बिना उद्योग बंद हो जाएगा क्योंकि आप युवा और सफल हैं। आप मूखर्तापूर्ण निर्णय लेते हैं। मैंने उस समय कुछ फिल्में नहीं की जो बाद में ब्लॉकबस्टर रहीं।’’ उन्होंने बताया कि उन्होंने ‘राजा हिंदुस्तानी’, ‘दिल तो पागल है’ और ‘जुदाई’ जैसी कई फिल्मों के प्रस्ताव ठुकरा दिए थे।
जूही ने कहा, ‘‘यह सब अब बीत चुका हैं इसलिए अब इसके बारे में बात करने में कोई दिक्कत नहीं है और आप इससे सीखते हैं। मुझे लगता है कि इनमें से अधिकतर फिल्मों में दो नायिकाएं थीं इसलिए मैंने उनमें काम नहीं किया। मैं करिश्मा कपूर के स्टारडम के लिए जिम्मेदार हूं और वह इस बारे में जानती नहीं हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं अब भी कहीं न कहीं कुछ पैमानों के दायरे में ही भूमिकाएं एवं फिल्में करती हूं। ‘गुलाब गैंग’ में कुछ नया था और मेरे लिए यह भूमिका नई थी लेकिन मुझे इस किरदार को निभाने में आनंद आया।’’ उनकी समकालीन अभिनेत्रियां करिश्मा, माधुरी और अन्य अब भी काम कर रही हैं लेकिन जूही का कहना है कि उनके बीच अब किसी प्रकार की प्रतिस्पर्धा नहीं है। (एजेंसी)



First Published: Monday, March 3, 2014 - 16:20


comments powered by Disqus