सावधानी अपनाने से कम होगा हार्ट अटैक का खतरा

भारत में करीब 4.5 करोड़ लोगों को हृदय से संबंधित बीमारियां हैं और इनमें से ज्यादातर लोगों को दिल के दौरा कब पड़ने वाला है, उसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं होती। दिल का दौरा पड़ने से पहले अक्सर शरीर में कुछ संकेत महसूस होने लगते हैं। यदि इन संकेतों को पहचानकर एहतियाती कदम उठा लिए जाएं तो पीड़ित की जान बचाई जा सकती है।

Updated: Oct 7, 2013, 06:12 PM IST

नई दिल्ली : भारत में करीब 4.5 करोड़ लोगों को हृदय से संबंधित बीमारियां हैं और इनमें से ज्यादातर लोगों को दिल के दौरा कब पड़ने वाला है, उसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं होती। दिल का दौरा पड़ने से पहले अक्सर शरीर में कुछ संकेत महसूस होने लगते हैं। यदि इन संकेतों को पहचानकर एहतियाती कदम उठा लिए जाएं तो पीड़ित की जान बचाई जा सकती है।
हृद्याघात से पहले घबराहट और बैचेनी के साथ सीने के बीच में दर्द उठना शुरू होता है। मनुष्य को लगता है कि उसका दम घुट जाएगा। कुछ मामलों में बेहोशी और चक्कर आने जैसी स्थिति बन जाती है। दिल की धड़कने तेज होने लगती हैं। साथ ही सांस लेने में परेशानी होती है।
यदि पीड़ित व्यक्ति के सीने में दर्द 3 मिनट से ज्यादा हो तो उसे तुरंत किसी अस्पताल में ले जाएं। पीडित व्यक्ति को शांत और स्थिर रखने की कोशिश करें और कोई डर न फैलाएं। पीड़ित की पीठ को सहारा देते हुए उसे कुर्सी पर आराम की स्थिति में बैठा दें। पीड़ित के कपड़े तंग हो तो उन्हें ढीला कर दें। (एजेंसी)