आशुतोष, शाजिया और प्रो. आनंद पर दंगा भड़काने का केस, हो सकती है गिरफ्तारी

Last Updated: Thursday, March 6, 2014 - 12:32

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्‍ली : भाजपा मुख्यालय पर बुधवार शाम आम आदमी पार्टी और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष और शाजिया इल्मी के खिलाफ दंगा भड़काने का केस दर्ज किया है। पुलिस ने दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है जिसमें से 14 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष, शाजिया इल्मी और प्रो. आनंद कुमार समेत दो दर्जन से अधिक लोगों के खिलाफ संसद मार्ग थाने में एफआईआर दर्ज की है। सभी के खिलाफ दंगा भड़काने, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, चोट पहुंचाने और सरकारी कर्मचारियों को अपनी डयूटी निभाने से रोकने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस ने शाजिया इल्मी, आशुतोष और प्रो. आनंद कुमार को हिरासत में ले लिया है।
गुजरात के पाटन में अरविंद केजरीवाल को हिरासत में लिए जाने के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बुधवार शाम भाजपा मुख्यालय के बाहर हिंसक प्रदर्शन किया था। इनमें 13 आप कार्यकर्ता, 10 भाजपा समर्थक और कुछ मीडियाकर्मी घायल हो गए हैं।
दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों पक्षों के कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भाजपा दफ्तर में घुसने की कोशिश की, जिसके बाद दोनों ओर से पथराव हुआ था। आम आदमी पार्टी के नेता प्रशांत भूषण ने पुलिस की कार्रवाई को लेकर सवाल खड़े किए है।
पुलिस ने बताया कि संघर्ष में आप के 13 कार्यकर्ताओं और भाजपा के 10 समर्थकों सहित 28 लोग घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस ने आप के प्रदर्शन को पूरी तरह अवैध करार दिया है क्योंकि इस संबंध में पार्टी ने कोई पूर्व अनुमति नहीं ली थी।
पुलिस को समूचे घटनाक्रम का वीडियो भी मिल गया है और वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि वीडियो फुटेज में पहचान के बाद और भी लोगों की गिरफ्तारी संभव है। आप कार्यकर्ता कल दिल्ली में भाजपा मुख्यालय के बाहर और लखनउ में भाजपा कार्यकर्ताओं से भिड़ गए थे। ये घटनाएं गुजरात में अरविन्द केजरीवाल की संक्षिप्त हिरासत और उनकी कार पर हुए कथित हमले के बाद हुईं।
बुधवार को गुजरात की अपनी चार दिन की विकास समीक्षा यात्रा शुरू करने वाले केजरीवाल को आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन को लेकर हिरासत में ले लिया गया था। कुछ देर बाद ही उन्हें छोड़ दिया गया था।
नरेंद्र मोदी पर केजरीवाल से डर जाने और पुलिस कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए आप कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में अशोक रोड स्थित भाजपा मुख्यालय पर धावा बोल दिया था। वे उत्तरी गुजरात के राधनपुर में केजरीवाल को हिरासत में लिए जाने की घटना का विरोध कर रहे थे।
इस दौरान दोनों पक्षों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। भाजपा कार्यालय के अंदर से प्रदर्शनकारियों पर प्लास्टिक की कुर्सियां फेंकी गईं। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें छोड़ीं। (एजेंसी इनपुट के साथ)



First Published: Thursday, March 6, 2014 - 09:50


comments powered by Disqus