भारत-पाक वार्ता का रद्द होना दुर्भाग्यपूर्ण: पृथकतावादी

कश्मीर के पृथकतावादियों ने पाकिस्तान के साथ विदेश सचिव स्तर की प्रस्तावित वार्ता को रद्द करने के भारत के फैसले पर हैरत जताई और इसे ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताते हुए कहा कि इससे दोनो देशों के बीच जारी गतिरोध बना रहेगा।

भाषा भाषा | Updated: Aug 18, 2014, 09:46 PM IST

श्रीनगर/नई दिल्ली : कश्मीर के पृथकतावादियों ने पाकिस्तान के साथ विदेश सचिव स्तर की प्रस्तावित वार्ता को रद्द करने के भारत के फैसले पर हैरत जताई और इसे ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताते हुए कहा कि इससे दोनो देशों के बीच जारी गतिरोध बना रहेगा।

हुर्रियत कांफ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने कहा कि यह फैसला ‘बहुत-बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि हमने उम्मीद की थी कि बातचीत की प्रक्रिया की शुरुआत हो गई है और भारत एवं पाकिस्तान कश्मीर मसले के हल के लिए मिलकर काम करेंगे।’ मीरवाइज ने कहा कि पाकिस्तान के दूत के साथ पृथकतावादी नेतृत्व की बैठक में कोई हर्ज नहीं है। ‘हमने सिर्फ अपने ख्याल उनके सामने रखे और यह कोई पहली बार तो नहीं है कि इस तरह की मुलाकात हुई है।’