कोई रिश्वत मांगे तो हमें फोन करो: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के नये मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानीवासियों को रिश्वत नहीं देने और नहीं लेने की शपथ दिलाते हुए आज कहा कि अगर कोई अधिकारी या बाबू घूस मांगे तो उसे मना नहीं करें और सरकार की मदद से उसे पकड़वाएं।

अंतिम अपडेट: शनिवार दिसम्बर 28, 2013 - 03:54 PM IST

नई दिल्ली : दिल्ली के नये मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानीवासियों को रिश्वत नहीं देने और नहीं लेने की शपथ दिलाते हुए आज कहा कि अगर कोई अधिकारी या बाबू घूस मांगे तो उसे मना नहीं करें और सरकार की मदद से उसे पकड़वाएं।
मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद ऐतिहासिक रामलीला मैदान में भारी संख्या में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, ‘‘यदि आगे से कोई आपका काम कराने के लिए आपसे रिश्वत मांगे तो उसे मना मत करना। उससे सैटिंग कर लेना और हमें फोन कर देना।’’ उन्होंने कहा कि हम एक-दो दिन में एक फोन नंबर जारी करेंगे जिस पर शिकायत की जा सकती है। केजरीवाल ने कहा कि इस तरह से रिश्वत मांगने वाले को पकड़ा जाएगा।
उन्होंने जनता को वैध काम कराने का आश्वासन देते हुए कहा कि जिस काम के लिए आपसे घूस मांगी जा रही है, आपके वो काम ‘मैं कराउंगा।’’ भाषण के अंत में मुख्यमंत्री ने जनता को ‘रिश्वत नहीं लेने और नहीं देने’ की शपथ भी दिलाई।

अपने 20 मिनट के भाषण में नए मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार मुहैया कराने की शपथ ली और अपने मंत्रियों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं को चेतावनी दी कि वे सत्ता के अंहकार में न आएं। केजरीवाल ने कहा, ‘‘आप पार्टी दूसरों का घमंड तोड़ने के लिए बनी है । कहीं ऐसा न हो कि हमारा घमंड तोड़ने के लिए किसी अन्य दल को पैदा होना पड़े।’’ उन्होंने कांग्रेस और भाजपा समेत सभी दलों से उनकी सरकार को समर्थन देने की अपील की। केजरीवाल ने अपनी पार्टी की जीत को ‘‘आम आदमी की जीत’’ करार दिया। (एजेंसी)