गुजरात पुलिस को मिली आसाराम की ट्रांजिट रिमांड

Last Updated: Friday, October 11, 2013 - 16:58

जोधपुर : जोधपुर की एक अदालत ने गुजरात पुलिस को आसाराम को हिरासत में लेने की इजाजत दे दी जिनके और जिनके बेटे के खिलाफ सूरत की दो बहनों ने यौन हिंसा का मामला दर्ज कराया है।
पीड़िताओं के वकील मनीष व्यास ने कहा कि अदालत ने गुजरात पुलिस को पूछताछ के लिए उन्हें अपने साथ ले जाने की इजाजत दे दी। जिला एवं सत्र न्यायालय ने 72 वर्षीय आसाराम और अन्य चार आरोपियों की न्यायिक हिरासत अगले 14 दिनों के लिए बढ़ाते हुए जोधपुर केंद्रीय जेल को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि वे 25 अक्तूबर को अदालत में पेश हों। गांधीनगर अदालत से जारी पेशी वारंट लेकर आई गुजराई पुलिस की टीम आसाराम को पूछताछ के लिए अपने साथ ले जाने की मांग करते हुए कल जोधपुर अदालत पहुंची थी।
व्यास ने कहा कि न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास ने आसाराम और अन्य सह आरोपियों की न्यायिक हिरासत 25 अक्तूबर तक के लिए बढ़ा दी। अन्य आरोपियों में शिल्पी, शिवा, प्रकाश, शरद चंद्र आदि शामिल हैं। सूरत पुलिस ने आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं के खिलाफ बलात्कार, यौन हिंसा, अवैध रूप से बंधक बनाने तथा अन्य आरोपों के सिलसिले में एक-एक शिकायत दर्ज की थी।
इससे पहले आसाराम को एक (अन्य) नाबालिग लड़की से यौन हिंसा करने के आरोप में अगस्त में गिरफ्तार किया गया था । वह पिछले 40 दिनों से जोधपुर केंद्रीय जेल में हैं। उनकी जमानत अर्जी जिला एवं सत्र न्यायालय एवं उच्च न्यायालय दोनों ही खारिज कर चुके हैं। (एजेंसी)



First Published: Friday, October 11, 2013 - 16:25


comments powered by Disqus