LoC: सेना-घुसपैठियों के बीच गोलीबारी 13वें दिन जारी, संलिप्तता से पाक का इंकार

Last Updated: Sunday, October 6, 2013 - 20:46

ज़ी मीडिया ब्यूरो
श्रीनगर: कश्मीर के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा से लगे इलाके में घिरे हुए उग्रवादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई रविवार को 13वें दिन भी जारी है और दोनों तरफ से रुक-रुक कर गोलीबारी चल रही है। वहीं, पाकिस्तान के उच्चायुक्त सलमान बशीर ने घुसपैठ में पाकिस्तानी सेना की संलिप्तता की रिपोर्टों को आधारहीन बताकर खारिज किया है।
रक्षा सूत्रों ने बताया, ‘आपरेशन अब भी जारी है। दोनों तरफ से किसी के हताहत होने की कोई ताजा खबर नहीं है।’ घिरे हुए उग्रवादियों के समूह और सेना के बीच रुक-रुक कर गोलीबारी जारी है और सुरक्षा बल नाकेबंदी कर इलाके पर कड़ी निगरानी रख रहे हैं।
सेना ने देखा कि 30 से 40 लोगों का एक समूह घाटी में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा है। उसके बाद उसने 24 सितंबर को शालभट्टी गांव में घुसपैठ निरोधी विशाल अभियान छेड़ा।
यह अभियान अब भी नियंत्रण रेखा से लगे एक विशाल इलाके में जारी है और अभी तक सात उग्रवादी मारे जा चुके हैं। तीन उग्रवादी शुक्रवार को गुज्जरदूर गांव में मारे गए जबकि चार अन्य को कल सेक्टर के फतह गली इलाके में मार गिराया गया।
इससे पहले सेना ने कहा था कि माना जा रहा है कि शालभट्टी में 10-12 उग्रवादी मारे गए हैं, लेकिन उनके शव वहां से निकाले नहीं जा सकते क्योंकि बाकी उग्रवादियों के खिलाफ अभियान प्रगति पर है।
गोलीबारी में पांच सैनिक घायल हुए हैं। सेना ने इन रिपोर्टों को ‘बेतुकी’ बताया है कि घुसपैठियों ने कुछ चौकियों पर कब्जा कर लिया है। उन्होंने कहा कि अभियान पर सेना का पूरा नियंत्रण है।
सेना के 15 कोर के जनरल आफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल गुरमित सिंह ने कहा, ‘अभियान पर हमारा पूरा नियंत्रण है। हमारी चौकियों पर घुसपैठियों के कब्जे की रिपोर्ट बेतुकी है।’
इस बीच, नई दिल्ली में विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि जब तक सेना मामले की अपनी जांच पूरी नहीं कर लेती, सरकार कुछ नहीं बोल सकती। खुर्शीद ने कहा, ‘जब तक सेना अपनी जांच पूरी नहीं कर लेती और अपने निष्कर्षों के बारे में हमें सूचित नहीं करती, हम कुछ नहीं कह सकते। इससे सशस्त्र बलों को समस्या हो सकती है।’
विदेश मंत्री ने कहा, ‘सशस्त्र बल अपना दायित्व प्रभावी रूप से निभा रहे है। एक बार जब वह अपनी रिपोर्ट हमें दे देंगे, हम आपको इसके बारे में सूचित करेंगे।’
उधर, पाकिस्तान के उच्चायुक्त सलमान बशीर ने घुसपैठ में पाकिस्तानी सेना की संलिप्तता की रिपोर्टों को आधारहीन बताकर खारिज किया है।
केरन सेक्टर में हुए घुसपैठ में पाकिस्तानी सेना की कथित भूमिका पर प्रतिक्रया देते हुए सलमान बशीर ने रविवार को कहा कि इस तरह की रिपोर्टें ‘आधारहीन’ हैं।
उन्होंने कहा, ‘सक्षम अधिकारियों (सैन्य अधिकारियों) को इस मामले से निपटने दें।’ पाकिस्तान का बचाव करते हुए बशीर ने कहा, ‘आतंकवाद ने हमको सीधे रूप से प्रभावित किया है..हमारी तरफ अंगुली उठाने से पहले यह देखा जाए कि आतंकवाद से हमें कितनी क्षति पहुंची है।’
बशीर ने दोहराया कि नवाज शरीफ ने भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के लिए ‘देहाती औरत’ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था। पाकिस्तान में मनमोहन सिंह के लिए काफी सम्मान है।



First Published: Sunday, October 6, 2013 - 16:53


comments powered by Disqus