पाकिस्तान उच्चायुक्त का अलगाववादियों से मिलना बर्दाश्त नहीं: भाजपा

Last Updated: Monday, August 18, 2014 - 21:53
पाकिस्तान उच्चायुक्त का अलगाववादियों से मिलना बर्दाश्त नहीं: भाजपा

नई दिल्ली : पाकिस्तान के साथ विदेश सचिव स्तर की वार्ता को रद्द किए जाने के नरेन्द्र मोदी सरकार के निर्णय का स्वागत करते हुए भाजपा ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान उच्चायुक्त द्वारा अलगाववादी नेताओं से मिलना और संघर्षविराम का उल्लंघन करना ‘अस्वीकार्य’ कृत्य हैं।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने यहां कहा, ‘पाकिस्तान को भारत के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है.. बार-बार संघर्षविराम के उल्लंघन से दोनों देशों के संबंध सुधरने में मदद नहीं मिलने वाली है।’ उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने सभी पड़ोसी देशों से अच्छे रिश्ते चाहते हैं और पाकिस्तान को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बार बार होने वाले संघर्ष विराम के उल्लंघन समाप्त हों।

उधर, अमृतसर में रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जानबूझ कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जा रहा है क्योंकि पाकिस्तान और उसके अंदर की कुछ शक्तियां नहीं चाहते कि भारत-पाक संबंध सामान्य हों।

पार्टी के सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा, भाजपा वार्ता रद्द करने के निर्णय का स्वागत करती है। भारत अपने पड़ोसियों से अच्छे संबंध चाहता है, लेकिन वह किसी के द्वारा अपने अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप को बर्दाश्त नहीं करेगा। अलगाववादियों के साथ पाकिस्तानी उच्चायुक्त की बैठक से पहले विदेश सचिव सुजाता सिंह ने उन्हें साफ शब्दों में आगाह किया था कि वह भारत-पाक वार्ता या अलगावादियों के साथ मित्रता में से किसी एक को चुन लें।

इसके बावजूद पाकिस्तान के उच्चायुक्त द्वारा अलगाववादियों से मिलने पर विदेश सचिव ने आज पाकिस्तान के उच्चायुक्त से कहा कि 25 अगस्त को इस्लामाबाद में पाकिस्तानी समकक्ष के साथ उनकी वार्ता रद्द की जाती है।

भाषा



comments powered by Disqus