मोदी सरकार ने महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और राजस्थान के लिए राज्यपालों के नाम तय किए

By Ramanuj Singh | Last Updated: Tuesday, August 26, 2014 - 17:01
मोदी सरकार ने महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और राजस्थान के लिए राज्यपालों के नाम तय किए

ज़ी मीडिया ब्यूरो/रामानुज सिंह
नई दिल्ली : महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और राजस्थान के लिए नए राज्यपालों के नाम तय हो चुके हैं। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने आज (मंगलवार) बताया कि महाराष्ट्र के लिए विद्या सागर राव, गोवा के लिए मृदुला सिन्हा, कर्नाटक के लिए गुजरात विधानसभा के स्पीकर वजुभाई वाला और राजस्थान के लिए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह नए राज्यपाल होंगे।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह को आज राजस्थान का राज्यपाल नियुक्त किया गया। केन्द्र सरकार ने महाराष्ट्र, कर्नाटक और गोवा के राजभवनों के लिए भी तीन और भाजपा नेताओं के नाम तय किए।

गुजरात विधानसभा अध्यक्ष वजुभाई वाला को कर्नाटक का राज्यपाल नियुक्त किया गया है, जहां हंसराज भारद्वाज ने हाल में अपना कार्यकाल पूरा किया है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री सी विद्यासागर राव के शंकरनारायणन का स्थान लेंगे जिन्होंने रविवार को महाराष्ट्र के राज्यपाल के पद से इस्तीफा दिया था।

महाराष्ट्र से मिजोरम स्थानांतरित किए जाने के बाद शंकरनारायणन ने इस्तीफा दे दिया था। भाजपा की महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष 71 वर्षीय मृदुला सिन्हा को बी वी वांचू के स्थान पर गोवा का राज्यपाल नियुक्त किया गया है।

राष्ट्रपति भवन की एक विज्ञप्ति के मुताबिक 82 वर्षीय कल्याण सिंह राजस्थान के राज्यपाल का पद संभालेंगे जो मार्गरेट आल्वा के इस महीने रिटायर होने के बाद रिक्त हुआ है।

76 वर्षीय वजुभाई वाला कर्नाटक के राज्यपाल का पद संभालेंगे। वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पुराने विश्वस्त सहयोगी रहे हैं। पिछले साल जनवरी में गुजरात विधानसभा का अध्यक्ष चुने जाने से पहले उन्होंने मोदी सरकार में वित्त मंत्री के रूप में काम किया था।

69 वर्षीय सी विद्यासागर राव नव गठित राज्य तेलंगाना के रहने वाले हैं और वह वाजपेयी सरकार में गृह राज्य मंत्री थे। पेशे से वकील राव आंध्र प्रदेश विधान सभा के लिए तीन बार चुने गये थे और वह विधान सभा में भाजपा के नेता रहे थे। राष्ट्रपति भवन की विज्ञप्ति के मुताबिक ये नियुक्तियां पदभार ग्रहण करने के दिन से प्रभावी होंगी।

महाराष्ट्र के राज्यपाल के शंकरनारायणन द्वारा कल इस्तीफा दिए जाने से उस राज्य में यह पद रिक्त है। मिजोरम स्थानांतरित किए जाने पर शंकरनारायणन ने इस्तीफा दिया है।

पूर्व कानून मंत्री एचआर भारद्वाज द्वारा कर्नाटक के राज्यपाल के रूप में जुलाई में अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद से वहां भी यह पद रिक्त है। इस महीने मार्गरेट अल्वा के राजस्थान का राज्यपाल का अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद से वहां भी यह स्थान रिक्त है।

गोवा के राज्यपाल बी वी वांचू द्वारा इस्तीफा दिए जाने से वहां पिछले महीने से यह पद रिक्त है। राजग सरकार ने मिजोरम की राज्यपाल कमला बेनीवाल को बर्खास्त कर दिया है। गुजरात में राज्यपाल रहते राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके बीच टकराव की स्थिति बनी रहती थी। पूर्व कांग्रेसी नेता वीरेन्द्र कटारिया को भी पिछले महीने पुडुचेरी के उप-राज्यपाल के पद से बर्खास्त कर दिया गया था।

नई सरकार के गठन के बाद केन्द्रीय गृह सचिव के टेलिफोन के बाद पांच राज्यों के राज्यपालों ने इस्तीफा दे दिया था। इनमें पश्चिम बंगाल के एमके नारायणन, नगालैंड के अश्विनी कुमार, उत्तर प्रदेश के बीएल जोशी, गोवा के बीवी वांचू और छत्तीसगढ़ के शेखर दत्त शामिल हैं।

कांग्रेस के नेता जग्गनाथ पहाड़िया ने पिछले साल हरियाणा के राज्यपाल का अपना कार्यकाल पूरा किया है। उत्तराखंड के राज्यपाल अज़ीज़ कुरैशी ने उन्हें कार्यलाय से हटाने के मोदी सरकार के कदमों को अदालत में चुनौती दी है।

नई राजग सरकार अब तक छह राज्यपाल नियुक्त कर चुकी है। इनमें उत्तर प्रदेश के राम नाईक, पश्चिम बंगाल के केशरीनाथ त्रिपाठी, गुजरात के ओम प्रकाश कोहली, छत्तीसगढ़ के बलरामजी दास टंडन, नगालैंड के पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य और हरियाणा के कप्तान सिंह सोलंकी शामिल हैं।

 

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो

First Published: Tuesday, August 26, 2014 - 13:08


comments powered by Disqus