मोदी ने सोनिया, राहुल और योजना आयोग पर साधा निशाना

Last Updated: Thursday, November 7, 2013 - 18:58

कांकेर (छत्तीसगढ़) : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को सोनिया गांधी पर जमकर निशाना साधा और कहा कि उन्हें कोयला और टू जी घोटालों के बारे में बात करनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस विकास, मुद्रास्फीति और रोजगार सृजन जैसे मुद्दों पर देश को गुमराह कर रही है।
कोंडागांव में सोनिया गांधी की जनसभा के बाद मोदी ने यहां एक चुनावी रैली में उनपर यह कहने के लिए निशाना साधा कि ‘कांग्रेस शोर मचाने के बजाए चुपचाप काम करने में विश्वास करती है’। मोदी ने कहा कि कोयला ब्लॉक और टू जी स्पेक्ट्रम घोटाले उसके उदाहरण हैं।
भाजपा नेता ने राहुल गांधी पर भी उनके इस बयान के लिए प्रहार किया कि ‘गरीबी एक मनोदशा है’। उन्होंने कहा कि वह गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं क्योंकि उन्हें गरीबी के दर्द की समझ नहीं है।
सोनिया गांधी को ‘मैडम’ संबोधित करते हुए मोदी ने दो घंटे पहले उनके द्वारा दिए गए इस बयान का उल्लेख किया कि कांग्रेस एक ऐसी पार्टी है जो ढिंढोरा नहीं पीटती बल्कि अपना काम करती है।
भाजपा के प्रधानममंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा,‘‘आप सही हैं, मैडम। आप हर चीज बिना कहे कर जाती हैं। आपने (कांग्रेस सरकार) बिना कुछ कहे कोयला घोटाला किया। टू जी घोटाले में भी आपने कुछ नहीं कहा, लेकिन किया, धरती के नीचे, धरती पर और आकाश में बिना आपके कुछ कहे घोटाले हुए।’’
मोदी ने कहा कि संप्रग ने वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव से पहले वादा किया था कि सत्ता में आने के 100 दिनों के अंदर वह महंगाई पर काबू पा लेगा और हर साल एक करोड़ नौकरियां सृजित करेगा। उन्होंने कहा कि ये वादे पूरे नहीं किए गए।
उन्होंने कहा, ‘आप जो कुछ कहते हैं, आप उसे लागू नहीं करते। राष्ट्र बहुत अच्छी तरह यह जानता है। मैडम, आप कहती हैं, आप बिना कुछ कहे हर चीज करती हैं। आप जो कुछ वादा करती हैं, आप उसे पूरा नहीं करतीं। इन सवालों के जवाब दीजिए।’’
उन्होंने कहा कि जनता पहले झूठे वादों से बेवकूफ बन जाती थी लेकिन अब लोग सचाई समझ चुके हैं। मोदी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी उनके इस बयान को लेकर निशाना साधा कि ‘गरीबी एक मनोदशा है’। उन्होंने कहा, ‘‘कैसे इस तरह के नेता हो सकते हैं जिन्हें गरीबों की भाषा भी नहीं मालूम है। ऐसे नेता गरीबी का मजाक उड़ाते हैं। जिन लोगों ने गरीबी नहीं देखी, उन्हें क्या गरीबों का दर्द मालूम होगा। मैं गरीबी में पैदा हुआ और मैंने जीवन में काफी कुछ झेला है।’’
योजना आयोग पर उसके इस आंकड़े को लेकर कि प्रतिदिन 25 रुपए कमाने वाला व्यक्ति गरीबी रेखा से ऊपर है, प्रहार करते हुए मोदी ने पूछा, ‘‘आप कैसे भरपेट भोजन कर सकते हैं? ये ऐसे लोग हैं जो पंचसितारा होटल में पानी के बोतल पर 100-200 खर्च कर डालते हैं। ऐसे लोगों को देश पर शासन करने का अधिकार नहीं है।’’
विकास के नाम पर वोट मांगते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री ने लोगों को कांग्रेस की जाल में फंसने के खिलाफ चेताया। उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव के दौरान, कांग्रेस धर्म, जाति और समुदाय के आधार पर जनता को बांटने का प्रयास करेगी। समाज को बांटना कांग्रेस का चरित्र है। आप पहले कांग्रेस की जाल में फंस गए थे। लेकिन आज, आप अपना वोट विकास के लिए दीजिए। भाजपा का एक ही सपना, धर्म और लक्ष्य - विकास है।’’
उन्होंने लोगों से भाजपा सरकार को फिर से निर्वाचित करने की जोरदार अपील की।
मोदी ने (केंद्र के) सत्तारूढ़ दल के नारे ‘‘कांग्रेस का हाथ, आम आदमी के साथ’’ पर भी निशाना साधा और कहा कि आम आदमी का साथ देने के बजाय वह विभिन्न घोटालों के माध्यम से धन चुराने के लिए अपने हाथ का इस्तेमाल कर रही है।
उन्होंने कहा, ‘‘वे अब हाथ की सफाई में व्यस्त हैं। उन्होंने कोयला और यहां तक प्याज को भी नहीं छोड़ा। ऐसे हाथ में छत्तीसगढ़ मत सौंपिए।’’ उन्होंने भाजपा शासन में राज्य की जनता के लिए सुनहरे भविष्य का वादा किया।
नक्सल प्रभावित राज्य के मतदाताओं से भावनात्मक डोर बांधते हुए मोदी ने कहा, ‘‘मैं दिल्ली में रहूं या गुजरात में लेकिन मैं आपके दर्द को महसूस कर सकता हूं।’’ कांग्रेस पर छत्तीसगढ़ गठन के शुरू तीन साल में अपने शासन के दौरान राज्य की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि कांग्रेस को सजा दी जाए जिसने 60 साल तक देश पर शासन किया लेकिन गरीबों और दबे कुचलों के लिए कुछ नहीं किया।
मोदी ने विदेशी बैंकों से काला धन लाने और उसका पाई पाई विकास एवं गरीबों के कल्याण लगाने का वादा किया। उन्होंने सबसे पहले खाद्य सुरक्षा योजना लागू करने के लिए रमन सिंह सरकार की प्रशंसा की। (एजेंसी)



First Published: Thursday, November 7, 2013 - 18:58


comments powered by Disqus