सत्ता पाने की जड़ी-बूटी बन गई धर्मनिरपेक्षता : नरेंद्र मोदी

Last Updated: Monday, March 3, 2014 - 18:42

पटना/मुजफ्फरपुर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि शांति, एकता और सद्भावना के बिना देश का विकास नहीं हो सकता। इन्हीं चीजों की नींव पर विकास का भवन बनता है। उन्होंने जोर देकर कहा कि आज धर्मपिरपेक्षता सत्ता पाने की जड़ी-बूटी बन गई है। बिहार के मुजफ्फरपुर में हुंकार रैली में मोदी ने बिहार और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का तेजी से विस्तार हो रहा है, इससे अन्य दल चौंक गए हैं। उन्होंने बिहार सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि नेपाल की सीमा आतंकवादियों के लिए स्वर्ग बना हुआ है, लेकिन वोट बैंक के कारण सरकार नरम पड़ी हुई है।
उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार महंगाई, भ्रष्टाचार जैसी कई समस्याओं से घिरी हुई है, किसी भी समस्या पर सवाल पूछे जाने पर सत्ताधारी कहते हैं कि धर्मरिपेक्षता खतरे में है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को सत्ता प्राप्त करने के लिए धर्मरिपेक्षता जड़ी-बूटी बन गई है।
मोदी ने कहा कि भाजपा विकास की बात करती है, गरीबी, बेरोजगारी हटाने की बात करती है। लोगों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को जितना जल्दी हो सके हटाना होगा, नहीं तो देश का विकास नहीं हो सकता।
उन्होंने कहा कि इसके पूर्व वह पिछले वर्ष 27 अक्टूबर को पटना के गांधी मैदान में आए थे, वहां जिस प्रकार उनका स्वागत किया गया था, उसे वह अपना अहोभग्य मानता हैं। मोदी ने आरोप लगाया कि राजनीतिक द्वेष के कारण विस्फोट कर निर्दोष लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया।
मोदी ने कहा कि जो लोग मारे गए वे भी बिहार के लोग थे। उन्होंने कहा कि वह बम धमाका पटना की धरती पर नहीं बल्कि भारत के लोकतंत्र के सीने पर किया गया था। उन्होंने नीतीश कुमार की सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि बिहार सरकार विकास की सिर्फ बात करती है। मोदी ने कहा कि बिहार में आज 23 प्रतिशत घरों में शौचालय नहीं है और न ही बिजली है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में यहां के नियोजनालय में 8.50 लाख बेरोजगार युवकों ने अपना नाम निबंधन करवाया, लेकिन मात्र 2000 लोगों को रोजगार दिया गया।
उन्होंने तीसरे मोर्चे पर भी निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव के पूर्व तीसरा मोर्चा आ जाता है और फिर चुनाव समाप्त होते ही वह चला जाता है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि तीसरे मोर्चे में ज्यादातर वही दल शामिल हैं जो कांग्रेस का साथ देते रहे हैं। मोदी ने अपने संबोधन में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के रामविलास पासवान व राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के उपेंद्र कुशवाहा का भी स्वागत किया।
मोदी के मंच पर पासवान, कुशवाहा, हाल में ही जनता दल-युनाइटेड (जदयू) से निष्कासित सांसद जय नारायण निषाद समेत भाजपा के कई वरीय नेता उपस्थित थे। मोदी की रैली को लेकर रैलीस्थल पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। (एजेंसी)



First Published: Monday, March 3, 2014 - 14:12


comments powered by Disqus