मुफ्त में वायरस से कंप्यूटर को बचाएगा ‘नमो’ एंटीवायरस

घरेलू आईटी कंपनी इनोवेजिओन ने अपने नए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का नाम ‘नमो’ दिया है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का लोकप्रिय लघु रूप है। सॉफ्टवेयर पर्सनल कंप्यूटर उपयोग करने वालों को मुफ्त में मालवेयर तथा वायरस हमलों से बचाएगा। मौजूदा संस्करण बुनियादी सुरक्षा प्रदान करता है। कंपनी की इस सॉफ्टवेयर की अत्याधुनिक संस्करण पेश करने की योजना है।

भाषा | अंतिम अपडेट: रविवार जून 22, 2014 - 05:53 PM IST

नई दिल्ली : घरेलू आईटी कंपनी इनोवेजिओन ने अपने नए एंटीवायरस सॉफ्टवेयर का नाम ‘नमो’ दिया है जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का लोकप्रिय लघु रूप है। सॉफ्टवेयर पर्सनल कंप्यूटर उपयोग करने वालों को मुफ्त में मालवेयर तथा वायरस हमलों से बचाएगा। मौजूदा संस्करण बुनियादी सुरक्षा प्रदान करता है। कंपनी की इस सॉफ्टवेयर की अत्याधुनिक संस्करण पेश करने की योजना है।

इनोवेजिओन के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अभिषेक गगनेजा ने कहा, इंटरनेट उपयोग करने वालों के लिहाज से भारत तीसरा सबसे बड़ा देश है। हालांकि आंकड़ें बताते हैं कि केवल 13% के पास वैध एंटीवायरस सॉफ्टवेयर है और 30% में उसी साफ्टवेयर या अन्य एंटीवायरस साफ्टवेयर का परीक्षण संस्करण दोबारा से लगाने की प्रवृत्ति होती है। हालांकि शेष 57% सिस्टम में या तो कोई सुरक्षा व्यवस्था नहीं होती या वे अज्ञात एप्लीकेशन का उपयोग करते हैं और इसी खंड को ध्यान में रखकर ‘नमो’ लाया गया है।

हालांकि गगनेजा ने स्पष्ट किया कि कंपनी का किसी राजनीतिक दल से कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा, यह सॉफ्टवेयर बनाकर हम नई सरकार को बधाई देना चाहते थे। हम यह भी संदेश देना चाहते हैं कि देश को उनसे काफी उम्मीदें हैं। इस एंटीवायरस सॉफ्टवेयर की वायरस के बारे में तत्काल जानकारी देना, बेहतर स्कैनिंग आदि विशेषताएं हैं। आय मॉडल के बारे में पूछे जाने पर गगनेजा ने कहा कि कंपनी मुफ्त में सुरक्षा सॉफ्टवेयर देती रहेगी।

उन्होंने कहा, हमारे पास अन्य कारोबार हैं जो अच्छा कर रहा हैं पिछले साल समूह की आय 1.6 करोड़ डॉलर रही जिसमें इस साल 100% वृद्धि की उम्मीद है। नमो एंटी वायरस मुक्त उत्पाद बना रहेगा।