भागवत की नसीहत, बोले हमारा काम 'नमो-नमो' करना नहीं

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं को कड़ा संदेश दिया है। भागवत ने कहा है कि भाजपा के लिए काम करते समय संगठन को अपनी मर्यादा पार नहीं करना चाहिए।

Updated: Mar 11, 2014, 12:14 PM IST

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ताओं को कड़ा संदेश दिया है। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक भागवत ने कहा है कि भाजपा के लिए काम करते समय संगठन को अपनी मर्यादा पार नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि संघ को व्यक्ति विशेष की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन या मुहिम से दूर रहना चाहिए।
बेंगलुरू में संघ की प्रतिनिधि सभा को संबोधित करते हुए मोहन भागवत ने कहा कि हमें यह बात नहीं भूलनी चाहिए कि हम राजनीति में नहीं है। हमारा काम नमो-नमो (नरेंद्र मोदी, नरेंद्र मोदी) करना नहीं है बल्कि अपने लक्ष्य के लिए सतत काम करना है।
भागवत ने स्‍वयंसेवकों से अपनी बात को और बताने के लिए करने के लिए गीता के एक श्‍लोक का सहारा लिया। उन्‍होंने श्‍लोक 'सर्वेंद्रिय गुणा भासम, सर्वेंद्रिय विवर्जितम' के जरिए यह बताने की कोशिश की उसमें सब इंद्रियों, गुणों का आभास होता है लेकिन वास्तव में वह सब इंद्रियों से रहित है और तटस्थ रहकर काम करता है।
भागवत ने कहा कि मौजूदा हालातों में निर्लिप्त भाव से काम करना ज्यादा अहम है। उन्होंने कहा कि हमारी अपनी मर्यादा है। हमें उसे नहीं तोड़ना है। भागवत ने ये टिप्पणियां मुक्त चिंतन के दौरान प्रतिनिधियों की ओर से उठाए गए मुद्दों के जवाब में की। प्रतिनिधि सभा की इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह और भाजपा के संगठन महासचिव रामलाल भी मौजूद थे।

(एजेंसी इनपुट के साथ)