मेरी मां सुनंदा काफी मजबूत थीं, खुदकुशी करना कठिन : शिव

Last Updated: Wednesday, January 22, 2014 - 16:23

ज़ी मीडिया ब्यूरो

नई दिल्ली : सुनंदा पुष्कर के बेटे शिव मेनन ने अपनी मां की मौत के संबंध में लगाई जा रही विभिन्न तरह की अटकलों को सिरे से खारिज करते हुए आज कहा कि वह ‘बहुत मजबूत’ थीं और आत्महत्या नहीं कर सकतीं ।
मेनन ने कहा कि उनकी मां की मौत मीडिया की खबरों के कारण उत्पन्न दबाव, तनाव और औषधि प्रयोग की गड़बड़ी के दुर्भाग्यपूर्ण संयोजन से हुई । 21 वर्षीय मेनन सुनंदा और उनके पूर्व पति के पुत्र हैं । उन्होंने कहा कि शशि थरूर और उनकी मां के बीच कभी कभार होने वाले मतभेदों के बावजूद काफी प्रेम था ।
शिव मेनन ने कहा, ‘इन अटकलों को तो छोड़ ही दीजिए कि उन्होंने उनकी जान ली होगी ,मुझे यह भी यकीन नहीं हो सकता कि शशि उनको नुकसान पहुंचाने में सक्षम थे।’
शिव ने कहा कि जो भी मेरी मां के बारे में जानता होगा उसे यह भी पता होगा कि वह अपनी जान खुदकुशी के जरिए नहीं दे सकती थी क्योंकि उन्हें अपने जीवन से बेहद लगाव था।
उन्होंने अपनी मां के मौत के मसले पर शशि थरुर का भी बचाव किया और कहा कि मुझे इस बात पर भरोसा नहीं है कि वह (शशि थरूर) मेरी मां की मौत के लिए वह जिम्मेदार नहीं है। शिव ने कहा कि शशि थरूर ने कभी भी मेरी मां के साथ मारपीट नहीं की। हां उनके बीच थोड़े मतभेद थे लेकिन वह दोनों एक दूससे से बेहद प्यार करते थे।
गौर हो केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उनकी मौत के पीछे ‘विषाक्तता’ मुख्य कारण बताये जाने के बाद दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया है कि वह इस रहस्मयी मौत की जांच हत्या और आत्महत्या कोणों से करे। पुलिस को दी गई रिपोर्ट में सुनंदा के भाई, पुत्र, थरूर और उनके कर्मचारियों के बयान दर्ज करने वाले एसडीएम ने कहा कि परिवार के किसी भी सदस्य को मौत के पीछे कोई षड्यंत्र होने का संदेह नहीं है।
52 वर्षीय सुनंदा दक्षिणी दिल्ली के होटल में शुक्रवार की रात में मृत मिली थी। उससे एक दिन पहले उनकी पाकिस्तान की एक पत्रकार मेहर तरार से शशि थरूर से कथित प्रसंग को लेकर ट्विटर पर तकरार हुई थी।



First Published: Wednesday, January 22, 2014 - 09:29


comments powered by Disqus