देहरादून EXPRESS के 3 स्लीपर डिब्बे लगी आग, 9 लोग जिंदा जले, मुआवजे का ऐलान

Last Updated: Wednesday, January 8, 2014 - 12:53

ज़ी मीडिया ब्यूरो
मुंबई : ठाणे जिले में दहानु के पास मुंबई से देहरादून जा रही देहरादून एक्सप्रेस में रात करीब 3 बजे आग लगने से 9 लोगों की मौत हो गई। हादसे में कई लोग घायल हो गए हैं, घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रेलवे ने मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रूपए मुआवजे की घोषणा की है।
एक पखवाड़े में ट्रेन में आग की यह दूसरी घटना है। रात में करीब 2 बजकर 50 मिनट पर तीन कोचों में से एक में आग लगी और यह धीरे-धीरे अन्य दो कोच में फैल गयी। उस समय यात्री सो रहे थे। पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी शरतचंद्र ने कहा कि 9 मृतकों में एक महिला और 4 पुरूष हैं। बाकी लोगों की पहचान अभी नहीं हो पायी है। पुलिस ने बताया कि चार लोग मामूली रूप से घायल हुए हैं।
एस-2 एस-3 और एस-4 कोच प्रभावित हुआ। एस-4 में 64 यात्री थे। एस-2 और एस-3 में 54 यात्री थे। रेल मंत्री मल्लिकाजरुन खड़गे ने यात्रियों की मौत पर दुख व्यक्त किया और मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।
रेल मंत्री मल्लिकाजरुन खड़गे ने मुंबई-देहरादून एक्सप्रेस ट्रेन में आग हादसे में लोगों की मौत पर आज दुख व्यक्त किया और मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रूपए का अनुदान देने की घोषणा की। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अरूणेंद्र कुमार ने कहा कि गंभीर रूप से घायल हुए लोगों को एक-एक लाख रुपए तथा मामूली रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपए की राशि दी जाएगी। कुमार ने कहा कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त आग लगने की घटना की जांच करेंगे। उन्होंने कहा, आग के कारणों का अभी पता लगाया जाना है। हालांकि, आग पर काबू पा लिया गया है और ट्रेन अपने आगे के गंतव्य के लिए रवाना हो गई है।’
रेलवे सूत्रों ने बताया है कि शॉर्ट सर्किट से इंकार नहीं किया जा सकता क्योंकि एस-3 कोच के बिजली बोर्ड के भीतर जला हुआ तार पाया गया। शरत चंद्र ने कहा कि फाटक पर तैनात एक गेटमैन ने ट्रेन में आग देखी और तत्काल ही ट्रेन में मौजूद गार्ड को इसकी सूचना दी। गार्ड ने इसके बाद मोटरमैन को सूचित किया और जिसके बाद ट्रेन रोक दी गई। चंद्र ने कहा, फाटक पर तैनात गेटमैन की मुस्तैदी से एक बड़ा हादसा टल गया। ट्रेन को घोलवाड रेलवे स्टेशन पर दहानु मार्ग के पास रोका गया। यहां आग पर काबू पा लिया गया।
अपने प्रियजनों की जानकारी के लिए इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करें। 022-23011853 और 022-23007388
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले भी चलती ट्रेन में आग लगी थी, ये दूसरा रेल हादसा है। इससे पहले 28 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में पुट्टपर्थी के पास नांदेड़ एक्सप्रेस के एसी कोच में आग लगने से 26 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। ये ट्रेन बेंगलुरू से महाराष्ट्र के नांदेड़ जा रही थी।



First Published: Wednesday, January 8, 2014 - 08:36
comments powered by Disqus