वाराणसी सीट हो या लखनऊ, बीजेपी चुनाव समिति करेगी फैसला: राजनाथ

Last Updated: Monday, March 10, 2014 - 15:45

नई दिल्ली : नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह के लिए उत्तर प्रदेश से मुरली मनोहर जोशी तथा लालजी टंडन द्वारा अपनी वर्तमान सीट छोड़े जाने के कथित दबाव के बीच भाजपा अध्यक्ष ने सोमवार को कहा कि इस बारे में अंतिम निर्णय पार्टी की केन्द्रीय चुनाव समिति ही करेगी।
सिंह ने संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा कि मैं इस बात पर जोर दूंगा कि मेरे बारे में भी निर्णय केन्द्रीय चुनाव समिति के द्वारा ही होगा। कोई व्यक्ति उम्मीदवारों के मुद्दे पर निर्णय नहीं कर सकता। इस संबंध में मैं कुछ नहीं कह सकता।
बताया जाता है अपनी वर्तमान सीट छोड़ने के कथित दबाव से जोशी और टंडन दोनों नाखुश हैं। जोशी 2009 के आम चुनाव में वाराणसी से विजयी हुए थे। जोशी ने कल इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा था कि केन्द्रीय चुनाव समिति को ऐसा निर्णय करना चाहिए जिससे पार्टी और उसके प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार दोनों की प्रतिष्ठा को ठेस नहीं पंहुचे। बताया जाता है भाजपा का एक वर्ग चाहता है कि उसके प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार मोदी वाराणसी से चुनाव लड़ें जबकि जोशी अपनी सीट छोड़ने को तैयार नजर नहीं आ रहे हैं।
टंडन ने बाद में कहा कि वह मोदी के लिए अपनी लखनउ सीट छोड़ने को तैयार हैं। लेकिन साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें उत्तर प्रदेश की राजधानी की इस सीट से राजनाथ सिंह के मैदान में उतर सकने की खबरों की कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे यह खबर अच्छी नहीं लगी कि सिंह यहां (लखनऊ) से चुनाव लड़ेंगे जबकि मुझे इसकी कोई जानकारी ही नहीं है। उत्तर प्रदेश के भाजपा के वरिष्ठ नेता कलराज मिश्र ने स्वीकार किया कि इन दोनों सीट को लेकर चर्चाएं हैं लेकिन इस बात से इंकार किया कि पार्टी में इसे लेकर कोई विवाद है।
मोदी के वारणसी से लड़ने की संभावना का संकेत देते हुए मिश्र ने कहा कि हमारी विजय की संभावनाओं को बढ़ाने और साथ ही संतुलन बैठाने की चर्चाएं हैं। ऐसी चर्चाएं हो रही हैं कि किस क्षेत्र में किसे उम्मीदवार बनाने से उसके आस पास के इलाके में पार्टी का प्रभाव और बढ़ेगा। (एजेंसी)



First Published: Monday, March 10, 2014 - 15:45


comments powered by Disqus