अल्पसंख्यकों को ध्यान में रखें मोदी : सैयद बुखारी

दिल्ली के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश में अगली सरकार बनाने जा रही है, जिससे देश को सांप्रदायिकता का सामना करना पड़ सकता है।

अंतिम अपडेट: May 16, 2014, 12:24 PM IST

नई दिल्ली: दिल्ली के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) देश में अगली सरकार बनाने जा रही है, जिससे देश को सांप्रदायिकता का सामना करना पड़ सकता है। बुखारी ने कहा कि यह संभव है कि हम सांप्रदायिकता की तरफ बढ़ें। उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्ष मतों के विभाजन ने भाजपा के बेहतर प्रदर्शन में योगदान दिया।
बुखारी ने कहा कि नई सरकार को यह तय करना है कि क्या यह खुद के एजेंडे के साथ चलेगी या संविधान के साथ। अगर यह अपने एजेंडे के साथ चलती है, तो यह देश के लिए खतरा होगा। लोकतंत्र में सभी तरह की चीजें चुनाव के दौरान कही जाती हैं। लेकिन इसके बाद, उम्मीद की जाती है कि सत्ता में आने के बाद नई सरकार देश और इसके वकास के बारे में पहले विचार करेगी और किसी तरह का फैसला लेने से पहले सभी धर्मो के बारे में विचार करेगी। देश दिल तोड़ कर नहीं चलता।
क्या उन्हें भाजपा सरकार में अल्पसंख्यकों के साथ भेदभाव का डर है, बुखारी कहते हैं कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि 2002 के गुजरात दंगे के बाद मुस्लिम समुदाय नरेंद्र मोदी को पसंद नहीं करता है। समय ही बताएगा कि वह अल्पसंख्यकों को क्या देते हैं क्या नहीं देते। (एजेंसी)