ग्रह के आकार के पिंड से टकराने के बाद बना था चंद्रमा

वैज्ञानिकों को इस सिद्धांत का समर्थन में नये सबूत मिले हैं कि पृथ्वी और ग्रह के आकार के रहस्यमय पिंड के बीच करीब 4.5 अरब वर्ष पहले हुई भयंकर टक्कर से चंद्रमा का निर्माण हुआ था।

Updated: Jun 6, 2014, 04:17 PM IST

बर्लिन : वैज्ञानिकों को इस सिद्धांत का समर्थन में नये सबूत मिले हैं कि पृथ्वी और ग्रह के आकार के रहस्यमय पिंड के बीच करीब 4.5 अरब वर्ष पहले हुई भयंकर टक्कर से चंद्रमा का निर्माण हुआ था।
अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि आक्सीजन समस्थानिक की नई श्रृंखलबद्ध माप से इस बात के सबूत मिलते हैं कि चंद्रमा का निर्माण पृथ्वी और ग्रह के आकार एक अन्य खगोलीय पिंड के बीच हुई टक्कर से हुआ था।
अधिकतर खगोल वैज्ञानिकों का मानना है कि चंद्रमा का निर्माण पृथ्वी और ग्रह के आकार के एक पिंड के बीच हुई टक्कर का परिणाम है जिसे थिआ नाम दिया गया है। टक्कर की पुष्टि के तहत आक्सीजन, टाइटेनियम, सिलिकान और अन्य के समस्थानिक के बीच अनुपात मापने पर प्रयास केंद्रित हुआ। (एजेंसी)