वेलिंगटन टेस्ट: रहाणे ने ठोका पहला टेस्ट शतक, टीम इंडिया को 246 रन की बढ़त

Last Updated: Saturday, February 15, 2014 - 21:10

ज़ी मीडिया ब्यूरो
वेलिंगटन : वेलिंगटन टेस्ट में दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी के 192 रन के जवाब में 438 रन पर ऑल आउट हो गई। इस प्रकार से भारत 246 रन की बढ़त लेकर मजबूत स्थिति में है और मैच पर शिकंजा कस लिया है।
अजिंक्य रहाणे के पहले टेस्ट शतक से भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन 246 रन की विशाल बढ़त लेकर मैच पर शिकंजा कस लिया है। अपना पांचवां टेस्ट खेल रहे रहाणे ने 158 गेंद में 17 चौकों और एक छक्के की मदद से 118 रन बनाए। न्यूजीलैंड के 192 रन के जवाब में भारत ने पहली पारी में 438 रन बनाए।
तेज गेंदबाज जहीर खान ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने से पहले सलामी बल्लेबाज पीटर फुल्टन को आउट कर दिया जब स्कोर बोर्ड पर सिर्फ एक रन टंगा था। न्यूजीलैंड ने दूसरे दिन के आखिर में एक विकेट पर 24 रन बनाये और वह भारत के पहली पारी के स्कोर से अभी भी 222 रन पीछे है। हामिश रदरफोर्ड 18 और केन विलियम्सन चार रन बनाकर खेल रहे थे।
रहाणे का इससे पहले सर्वोच्च टेस्ट स्कोर 96 रन था जो पिछले साल दिसंबर में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया था। उन्होंने सातवें विकेट के लिये कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ 120 रन जोड़े। धोनी ने 86 गेंद में 68 रन बनाये।
इससे पहले सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (98) शतक जमाने से दो रन से चूक गए। धवन ने अपनी पारी में 127 गेंदों का सामना करके 14 चौके और एक छक्का जड़ा। भारत ने आज 74.4 ओवर में 4.26 रन प्रति ओवर की दर से 338 रन बनाये।
न्यूजीलैंड के लिये टिम साउदी, ट्रेंट बोल्ट और नील वेगनेर ने तीन-तीन विकेट लिये। मैच में अभी पूरे तीन दिन बाकी हैं लिहाजा ऑकलैंड में पहला टेस्ट 40 रन से हारने वाली भारतीय टीम इसे जीतकर श्रृंखला 1-1 से बराबर करना चाहेगी।
चाय के बाद 6 विकेट पर 301 रन से आगे खेलते हुए रहाणे और धोनी ने तेजी से रन बनाये। भारतीय कप्तान ने अपना 29वां टेस्ट अर्धशतक 64 गेंद में छह चौकों और एक छक्के की मदद से पूरा किया। दो ओवर बाद उन्होंने 100 रन की साझेदारी पूरी की। खतरनाक हो चली इस साझेदारी को बोल्ट ने 93वें ओवर में तोड़ा जब धोनी ने उनकी बाहर जाती गेंद पर बल्ला अड़ाया और विकेट के पीछे बी जे वाटलिंग ने उसे लपक लिया।
रविंद्र जडेजा (16 गेंद में 26 रन) ने भी आक्रामक पारी खेली और रहाणे के साथ 37 रन जोड़े। वह हालांकि सिर्फ 16 गेंद तक टिक सके। जहीर कुछ देर टिककर खेले जिससे रहाणे को शतक बनाने का मौका मिला जो उन्होंने 149 गेंद में 15 चौकों की मदद से पूरा किया। टेस्ट शतक जमाने वाले 76वें भारतीय बल्लेबाज बनने के बाद रहाणे ने जहीर के साथ तेजी से 38 रन जोड़े। जहीर ने 19 गेंद में चार चौकों के साथ 22 रन बनाये।
रहाणे की शानदार पारी का अंत 102वें ओवर में बोल्ट ने डीप में उतने ही दर्शनीय कैच के जरिये किया। एक ओवर बाद भारतीय पारी का भी अंत हो गया। इससे पहले रहाणे ने चाय तक भारत को छह विकेट पर 301 रन तक पहुंचाया। विराट कोहली के साथ वह सहज होकर खेलते रहे। दोनों ने आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाजी की। दोनों ने 62वें ओवर में 50 रन की साझेदारी पूरी की। एक बार फिर कोहली अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सके और नील वेगनर ने उन्हें शार्ट कवर पर लपकवाया। कोहली ने 93 गेंद पर 38 रन बनाये।
इसके बाद धोनी क्रीज पर आए जिन्होंने पहले आक्रामक शाट्स खेले और बाद में रहाणे के साथ ठोस साझेदारी की। रहाणे ने अपना अर्धशतक 93 गेंद में सात चौकों की मदद से पूरा किया। नयी गेंद 81वें ओवर में ली गई लेकिन क्रीज पर जम चुके दोनों बल्लेबाजों ने कीवी गेंदबाजों को विकेट के लिये तरसाया। चाय के समय भारत के 300 रन पूरे हो गए। सुबह के सत्र में धवन लगातार दूसरे टेस्ट शतक से चूक गए। लंच तक भारत का स्कोर पांच विकेट पर 201 रन था।
धवन ने 71 और ईशांत शर्मा ने तीन रन के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया जबकि भारत का स्कोर दो विकेट पर 100 रन था। कीवी गेंदबाजों ने ईशांत पर लगातार हमले बोले। उसने 50 गेंद में तीन चौकों की मदद से 26 रन बनाये और तीसरे विकेट के लिये धवन के साथ 52 रन जोड़े। ईशांत का विकेट 37वें ओवर में गिरा जब बोल्ट की गेंद पर उन्होंने विकेट के पीछे वाटलिंग को कैच थमाया।
ईशांत के बाद कोहली ने उनका साथ दिया। धवन हालांकि लगातार दूसरे टेस्ट शतक से दो रन से चूक गए। साउदी की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर वह पवेलियन लौटे। तीन रन बाद रोहित शर्मा (0) भी अपना विकेट खराब शाट पर गंवा बैठे। पहला टेस्ट खेल रहे जिम्मी नीशाम को अपना पहला टेस्ट विकेट उनके रूप में मिला। इसके बाद कोहली और रहाणे ने हालांकि संभलकर खेला और भारत को बड़े स्कोर तक ले गए। (एजेंसी इनपुट के साथ)



First Published: Saturday, February 15, 2014 - 09:09


comments powered by Disqus