एशिया कप: श्रीलंका ने भारत को 2 विकेट से हराया, संगकारा का शतक

असंथा मेंडिस (60-4) और सचित्रा सेनानायके (41-3) की शानदार गेंदबाजी के दम पर श्रीलंका ने शुक्रवार को खान साहिब उस्मान अली स्टेडियम में जारी एशिया कप के दूसरे मुकाबले में भारत को 264 रनों पर समेट दिया।

Updated: Mar 1, 2014, 12:52 AM IST

फातुल्लाह (बांग्लादेश) : कुमार संगकारा (103) के शानदार शतक की बदौलत श्रीलंका क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को खान साहिब उस्मान अली स्टेडियम में खेले गए एशिया कप के 12वें संस्करण के अपने दूसरे मुकाबले में भारत को दो विकेट से हरा दिया। श्रीलंका की यह दूसरी जीत है जबकि भारत को पहली हार मिली है। श्रीलंकाई टीम ने असंथा मेंडिस (60-4) और सचित्रा सेनानायके (41-3) की शानदार गेंदबाजी के दम पर भारत को 264 रनों पर सीमित कर दिया था। इसके बाद उसने संगकारा के करियर के 18वें शतक, कुशल परेरा (64) के अर्धशतक और लाहिरू थिरिमान्ने (38) की उम्दा पारी से 49.2 ओवरों में आठ विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल कर लिया।
एक समय भारत ने रवींद्र जडेजा (30-3) की उम्दा गेंदबाजी की बदौलत 216 रनों पर श्रीलंका के सात विकेट झटक लिए थे लेकिन संगकारा ने इसके बाद कमान अपने हाथ ली और भारत के स्ट्राइक गेंदबाजों की धुनाई करते हुए न सिर्फ 83 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया बल्कि अपनी टीम को जीत की स्थिति में पहुंचा दिया।
संगकारा हालांकि पारी के 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर मोहम्मद समी की गेंद पर अश्विन के हाथों लपके गए। उस समय श्रीलंका को जीत के लिए नौ गेंदों पर सात रनों की जरूरत थी। समी के इस ओवर की अंतिम गेंद पर मेंडिस (नाबाद 5) ने चार रन लिए। इस ओवर में कुल 11 रन बने।
अंतिम ओवर में श्रीलंका को जीत के लिए एक रन बनाना था। भुवनेश्वर द्वारा फेंकी गई पहली गेंद पर शिखर धवन ने थिसिरा परेरा (नाबाद 11) का कैच गिरा दिया। अगली गेंद पर परेरा ने एक रन लेकर अपनी टीम को जीत तक पहुंचा दिया। समी ने 10 ओवरों में 81 रन दिए।
श्रीलंका ने कुशल परेरा और थिरिमान्ने की बदौलत अच्छी शुरूआत की थी। दोनों सलामी बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 80 रन जोड़े थे। थिरिमान्ने के आउट होने के बाद संगकारा और परेरा ने स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। परेरा 134 के कुल योग पर अश्विन के शिकार बने। परेरा ने 81 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाए।
इसके बाद श्रीलंका ने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए। 148 के कुल योग पर माहेला जयवर्धने (9), इसी योग पर दिनेश चांडीमल (0), 165 के कुल योग पर कप्तान एंजेलो मैथ्यूज (6), 183 के कुल योग पर सचित्रा सेनानायके (12) और 216 के कुल योग पर चतुरंग डी सिल्वा (9) का विकेट गिरा।
इससे पहले, टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने शिखर धवन (94) की मदद से निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट पर 264 रन बनाए। धवन ने 114 गेंदों पर सात चौके और एक छक्का लगाया। कप्तान शिखर धवन ने 48 रन बनाए।
भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 33 रन के कुल योग पर रोहित शर्मा (13) का विकेट गंवा दिया लेकिन इसके बाद कप्तान और धवन ने दूसरे विकेट के लिए 97 रन जोड़े। रवींद्र जडेजा 21 रनों पर नाबाद लौटे। श्रीलंका की ओर से कोहली का विकेट 130 रनों के कुल योग पर गिरा। वह मेंडिल की एक कैरम गेंद पर आउट हुए। बीते मैच में बांग्लादेश के खिलाफ शतक लगाने वाले कोहली ने 51 गेंदों पर चार चौके और एक छक्का लगाया।
बांग्लादेश के खिलाफ अर्धशतक लगाने वाले अजिंक्य रहाणे (22) इस मैच में कुछ खास नहीं कर सके लेकिन उन्होंने धवन के साथ तीसरे विकेट के लिए 45 रनों की साझेदारी को अंजाम दिया।
रहाणे की विदाई के बाद धवन शतक की ओर बढ़ चले लेकिन 94 के निजी योग पर पहुंचकर वह अपना संयम खो बैठे। उनका विकेट मेंडिस ने लिया।
इसके बाद भारत ने 200 के कुल योग पर दिनेश कार्तिक (4) और 214 के कुल योग पर अंबाती रायडू (18) तथा 215 के कुल योग पर स्टुअर्ट बिन्नी (0) के विकेट गंवा दिए।
अश्विन (18) ने जडेजा के साथ आठवें विकेट के लिए उपयोगी 30 रन जोड़े। अश्विन ने 16 गेंदों पर दो चौके लगाए। वह लसिथ मलिंगा की गेंद पर बोल्ड हुए।
अश्विन के बाद भुवनेश्वर कुमार (0) खाता नहीं खोल सके लेकिन उनकी जगह लेने आए मोहम्मद समी (नाबाद 14) ने 49वें ओवर की चौथी और छठी गेंद पर छक्का लगाकर भारत को 250 के पार पहुंचाया। मलिंगा द्वारा फेंके गए अंतिम ओवर में भारतीय बल्लेबाज पांच रन ही बटोर सके।
भारत ने अपने पहले मैच में मेजबान बांग्लादेश को हराया था जबकि श्रीलंका ने अपने पहले मुकाबले में पाकिस्तान को पराजित किया था। भारतीय टीम जहां छठी बार खिताब के लिए प्रयासरत है वहीं श्रीलंकाई टीम पांचवीं बार चैम्पियन बनने का प्रयास करेगी। बीते संस्करण में दोनों टीमें असफल रही थीं। बीता संस्करण पाकिस्तान ने जीता था। (एजेंसी)