जयपुर वनडे में भारत ने जीत के साथ रचे कई कीर्तिमान

Last Updated: Wednesday, October 16, 2013 - 23:00

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो
जयपुर : आस्ट्रेलिया के खिलाफ सवाई मानसिंह स्टेडियम में बुधवार को हुए दूसरे एकदिवसीय मैच में भारतीय क्रिकेट टीम ने जीत हासिल करते हुए कई कीर्तिमान रच डाले। आस्ट्रेलिया से मिले 360 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम ने एक विकेट पर 39 गेंद शेष रहते जीत हासिल कर ली। यह भारतीय टीम के लिए अब तक सबसे बड़े लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करते हुए दर्ज की गई जीत है। बल्कि विश्व की किसी भी टीम द्वारा सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा कर दर्ज की गई दूसरी सबसे बड़ी जीत है।
इससे पहले भारतीय टीम ने 18 मार्च 2012 को मीरपुर में पाकिस्तान के खिलाफ 329 रनों के सबसे बड़े लक्ष्य को दो विकेट पर 330 रन बनाकर सफलतापूर्वक हासिल किया था। विश्व क्रिकेट इतिहास में भी किसी टीम द्वारा हासिल किया गया यह दूसरा सबसे बड़ा लक्ष्य भी है। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने 438 रन बनाकर 12 मार्च, 2006 को आस्ट्रेलिया से मिले 434 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया था।
इतना ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय में दूसरी पारी में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया यह तीसरा सबसे बड़ा स्कोर है। दूसरी पारी में 438 रन बनाने वाला दक्षिण अफ्रीका और 411 रन बनाने वाला श्रीलंका ही इस मायने में भारत से आगे है। इसमें भी श्रीलंका द्वारा बनाया गया 411 रन भारत से मिले 414 के लक्ष्य का पीछा करते हुए बनाया गया था।
शानदार ढंग से बल्लेबाजी कर रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (95) जब 176 के कुल योग पर पवेलियन लौटे, उस समय भी भारत को 7.5 से अधिक के औसत से 184 रन और बनाने थे। धवन के जाने के बाद चिंता यह थी कि क्या आने वाले बल्लेबाज रनगति को कायम रख सकेंगे। दूसरे क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे विराट कोहली (नाबाद 100) ने लेकिन मात्र 52 गेंदों में शतक लगाकर सारी आशंकाओं को निर्मूल साबित कर दिया। कोहली का यह शतक किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा अब तक लगाया गया सबसे तेज शतक था और दुनिया का सातवां सबसे तेज शतक था।
इससे पहले वीरेंद्र सहवाग द्वारा 11 मार्च 2009 को न्यूजीलैंड के खिलाफ 60 गेंदों में लगाया गया शतक किसी भारतीय बल्लेबाज का सबसे तेज शतक था। (एजेंसी)



First Published: Wednesday, October 16, 2013 - 23:00


comments powered by Disqus
Live Streaming of Lalbaugcha Raja