नागपुर वनडे: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से रौंदा

Last Updated: Thursday, October 31, 2013 - 09:58

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो
नागपुर : भारतीय क्रिकेट टीम ने जामथा स्थित विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर बुधवार को आस्ट्रेलिया के साथ जारी छठे एकदिवसीय मुकाबले में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 350 रन बनाए। भारत को जीत के लिए 351 रनों का लक्ष्य मिला। ऑस्ट्रेलिया कप्तान ने 156 रन बनाए। वाटसन ने भी शतक जमाए। सात मैचों की इस श्रृंखला में आस्ट्रेलियाई टीम 2-1 से आगे चल रही है।
LIVE SCORECARD» I LIVE COMMENTARY»

उसने पुणे में खेला गया पहला और मोहाली में खेला गया तीसरा मैच जीता था जबकि भारत ने जयपुर में खेले गए दूसरे मैच के साथ बराबरी की थी।
रांची में खेला गया चौथा मैच एक पारी के बाद रद्द हो गया था जबकि कटक में खेला जाने वाला पांचवां मुकाबला टॉस से पहले ही रद्द कर दिया गया था। आज के मैच की टीमें इस प्रकार हैं।
भारत : रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, सुरेश रैना, महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद समी, अमित मिश्रा, और युवराज सिंह।
आस्ट्रेलिया : एरॉन फिंच, फिल ह्यूज, शेन वॉटसन, जार्ज बेले, एडम वोग्स, ग्लेन मैक्सवेल, ब्रैड हेडिन, जेम्स फॉल्कनर, मिशेल जानसन, क्लिंट मैके, जेवियर डोर्थी।
बैली और वाटसन के तूफानी शतक, आस्ट्रेलिया ने भारत को 351 रन का लक्ष्य दिया
नागपुर : कप्तान जार्ज बैली और शेन वाटसन के तूफानी शतक और दोनों के बीच तीसरे विकेट की शतकीय साझेदारी की बदौलत आस्ट्रेलिया ने छठे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां भारत के खिलाफ छह विकेट पर 350 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया।
बेहतरीन फार्म में चल रहे बैली ने पारी के अंतिम ओवर में पवेलियन लौटने से पहले 114 गेंद में 13 चौकों और छह छक्कों की मदद से 156 रन की पारी खेली और वाटसन के साथ तीसरे विकेट के लिए उस समय 168 रन जोड़े जब टीम 45 रन पर दो विकेट गंवा चुकी थी। वाटसन ने 94 गेंद में 13 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 102 रन बनाए।
अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने वाले बैली ने इसके बाद एडम वोगेस (नाबाद 44) के साथ भी सिर्फ 13 . 2 ओवर में पांचवें विकेट के लिए 120 रन जोड़े जिससे आस्ट्रेलियाई टीम श्रृंखला में चौथी बार 300 रन से अधिक का स्कोर बनाने में सफल रही।
भारत के सभी गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए। सिर्फ भुवनेश्वर कुमार ने ही छह रन प्रति ओवर से कम के रन रेट से रन दिए। मेजबान टीम की ओर से रविचंद्रन अश्विन और जडेजा ने क्रमश: 64 और 68 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए।
मेजबान भारत श्रृंखला में 1-2 से पिछड़ रहा है और अगर उसे श्रृंखला अपने नाम करने की उम्मीदें जीवंत रखनी हैं तो आज हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।
भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टास जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया और उनके गेंदबाजों ने 12वें ओवर में 45 रन तक दोनों सलामी बल्लेबाजों फिलिप ह्यूज (13) और आरोन फिंच (20) को पवेलियन भेजकर टीम को अच्छी शुरूआत दिलाई।
ह्यूज ने भुवनेश्वर कुमार की गेंद पर स्क्वाश लेग पर विराट कोहली को कैच थमाया जबकि फिंच अश्विन की सीधी गेंद पर चकमा खाकर बोल्ड हुए। वाटसन और बैली ने इसके बाद मोर्चा संभाला। भारतीय गेंदबाज शुरूआती में इस जोड़ी को काबू में रखने में सफल रहे और 20 ओवर में आस्ट्रेलिया का स्कोर दो विकेट पर 83 रन था।
आस्ट्रेलियाई जोड़ी इसके बाद धीरे धीरे हावी होने लगी और उन्होंने आस्ट्रेलिया की ओर से भारत के खिलाफ तीसरे विकेट की दूसरी सर्वश्रेष्ठ साझेदारी की। सर्वश्रेष्ठ साझेदारी का रिकार्ड रिकी पोंटिंग और डेमियन मार्टिन के नाम है जिन्होंने 2003 विश्व कप के फाइनल में जोहानिसबर्ग में 234 रन की अटूट साझेदारी की थी।
वाटसन ने इस बीच भारत के खिलाफ अपना पहला और कुल नौवां शतक जड़ा। उन्होंने भारतीय स्पिनरों के खिलाफ फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल किया। दूसरी तरफ बेहतरीन फार्म में चल रहे बैली शुरूआत से ही शानदार फार्म में दिखे। उन्होंने मोहम्मद शमी पर लगातार तीन चौके जड़कर अपने तेवर दिखाए।
भारत ने इस मैच में लेग स्पिनर अमित मिश्रा को मौका दिया लेकिन वह भी नाकाम रहे और उन्होंने 78 रन खर्च कर डाले। जडेजा ने अपने दोनों विकेट पारी के अंतिम ओवर में हासिल किए।
रांची में बारिश की भेंट चढ़े वनडे में शानदार प्रदर्शन करने वाली शमी भी महंगे साबित हुए। उन्होंने 66 रन देकर एक विकेट चटकाया। भुवनेश्वनर ने 42 रन देकर एक विकेट हासिल किया और वह सबसे किफायती गेंदबाज रहे।
इससे पहले वाटसन भाग्यशाली रहे जब जडेजा की गेंद पर लपके गए लेकिन यह नोबाल हो गई। इस बल्लेबाज ने तीनों स्पिनरों को अपने निशाने पर रखा और मिश्रा पर दो छक्के मारे। वाटसन ने शमी पर लगातार तीन चौके जड़कर अपना शतक पूरा किया लेकिन इसी तेज गेंदबाज की गेंद पर बोल्ड हो गए।
ग्लेन मैक्सवेल (09) इस बार नाकाम रहे और अश्विन की गेंद को बाउंड्री पर भुवनेश्वर कुमार को कैच दे बैठे। बैली ने इसके बाद अपने 34 मैच के वनडे करियर में अपना दूसरा शतक पूरा किया। वह इससे पहले श्रृंखला के दो बार शतक से चूक गए थे। आस्ट्रेलिया ने अंतिम 15 ओवर में 137 रन जुटाए जिसमें अंतिम पांच ओवर में 54 रन बने।



First Published: Wednesday, October 30, 2013 - 14:03


comments powered by Disqus