सहवाग और सचिन की जमात में शामिल हुए रोहित शर्मा

Last Updated: Sunday, November 3, 2013 - 16:47

बेंगलुरू : रोहित शर्मा ने हमेशा से इस बात के संकेत दिए हैं कि उनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और वह बड़ी पारियां खेलने की क्षमता रखते हैं लेकिन रोहित ने अपना यह जलवा जब तक नहीं दिखाया तब तक नहीं दिखाया लेकिन जब दिखाया तो पूरे धमाके साथ दिखाया।
रोहित ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 209 रनों की पारी खेली, जिसमें 12 चौके और 16 छक्के शामिल हैं। ये छक्के भी ऐसे कि देखने वाला अपने दांतो तले उंगलियां दबा ले। बिल्कुल साफ सुथरे और सटीक। रोहित अपनी शैली में जब छक्के लगाते हैं तो वह देखने वाला होता है।
इस पारी ने रोहित को उस जमात में लाकर खड़ा कर दिया है, जहां अब तक सिर्फ दो भारतीय पहुंच सके थे। सचिन तेंदुलकर सबसे पहले 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए 200 रनों तक पहुंचे। उस दिन एक इतिहास बना था।
सचिन का यह रिकार्ड हालांकि ज्यादा दिन नहीं रह सका और एक साल के भीतर ही वीरेंद्र सहवाग ने इंदौर में वेस्टइंडीज के खिलाफ 219 रन बनाकर इसे तोड़ दिया। सिर्फ तीन ही खिलाड़ी एकदिवसीय रिकार्ड के इस मुकाम पर पहुंचे हैं और तीनों ही भारतीय हैं।
पाकिस्तान के सईद अनवर ने 1997 में भारत के खिलाफ 194 रनों की पारी खेली थी और यह रिकार्ड अगले 12 साल तक कायम रहा। 2009 में जिम्बाब्वे के सीके कोवेंट्रे ने 197 रन बनाकर इस रिकार्ड को तोड़ा लेकिन वह 200 तक नहीं पहुंच सके।
200 रनों के जादुई आंकड़े तक पहुंचने का श्रेय मिला भारतीय क्रिकेट के इतिहास पुरुष सचिन को, जो अपनी 147 गेंदों की पारी के दौरान 25 चौके और तीन छक्के लगाकर नाबाद लौटे थे। सचिन के बाद सहवाग ने 149 गेंदों पर 25 चौके और सात छक्कों की मदद से 219 रन बनाए।
लेकिन रोहित की पारी कई मायनों में खास है। रोहित अपने साथी विराट कोहली के रन आउट होने के बाद एक तरह से दबाव में थे और अच्छी तरह जानते थे कि एक इनफार्म बल्लेबाज को रन आउट कराके उन्होंने एक तरह का अपराध किया है और इसका पश्ताचाप उन्हीं को करना है। यह सिर्फ शतक से किया जा सकता था लेकिन वह दोहरा शतक लगा पाएंगे यह शायद उन्हें भी पता नहीं होगा।
रोहित को कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का धन्यवाद करना चाहिए क्योंकि युवराज सिंह का विकेट गिरने के बाद धौनी ने न सिर्फ एक छोर पर विकेट बचाए रखा, बल्कि आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर लगातार हमले करते रहे, जिससे घबराए मेहमान गेंदबाज रोहित को आउट करने वाली गेंद कर ही नहीं पाए। धौनी और रोहित ने मनोवैज्ञानिक जीत के साथ आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के खिलाफ अंतिम पांच ओवरों में 100 रन बटोरे। (एजेंसी)



First Published: Sunday, November 3, 2013 - 16:47


comments powered by Disqus