सांसद के खिलाफ शिकायत किसी दबाव में वापस नहीं ली: श्वेता

हाल ही में कांग्रेस सांसद एन पी कुरूप पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने और फिर बाद में अपने मामले पर जोर नहीं देने वाली मलयालम अभिनेत्री श्वेता मेनन ने उन खबरों को खारिज कर दिया कि फिल्म उद्योग के दबाव के कारण उन्होंने अपनी शिकायत वापस ले ली थी।

Updated: Nov 10, 2013, 07:58 PM IST

तिरूवनंतपुरम : हाल ही में कांग्रेस सांसद एन पी कुरूप पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने और फिर बाद में अपने मामले पर जोर नहीं देने वाली मलयालम अभिनेत्री श्वेता मेनन ने उन खबरों को खारिज कर दिया कि फिल्म उद्योग के दबाव के कारण उन्होंने अपनी शिकायत वापस ले ली थी।
दो दशक से ज्यादा लंबे फिल्मी सफर में कई यादगार भूमिकाएं कर चुकीं 39 वर्षीय श्वेता ने कहा कि उन्होंने कांग्रेस नेता द्वारा ‘सार्वजनिक रूप से माफी मांगे जाने’ और पिता की सलाह पर अपना फैसला किया था। श्वेता ने कहा कि कल वह मुख्यमंत्री ओमेन चांडी से मिली और एक नवंबर को कोल्लम में एक कार्यक्रम में हुई घटना से उन्हें अवगत कराया।
श्वेता ने यहां प्रेस क्लब में संवाददाताओं से कहा, न तो फिल्मी जगत से और न ही बाहर से, किसी ने मुझे कुरूप के खिलाफ शिकायत वापस लेने के लिए दबाव डाला। विवाद के दौरान एएमएमए और एफईएफकेए जैसे संगठनों ने मुझे पूरा समर्थन दिया। कानूनी कार्रवाई से पीछे हटने के अपने फैसले पर कायम अभिनेत्री ने कहा कि कुरूप की ‘सार्वजनिक माफी’ ही एकमात्र वजह थी जिसके आधार पर उन्होंने अपना फैसला किया।
उन्होंने कहा, सांसद को टीवी चैनलों के जरिए माफी मांगते देखकर, मेरे 82 साल के पिता ने मुझे कानूनी कार्यवाही छोड़ देने का सुझाव दिया। यह एकमात्र वजह थी और अन्य सभी बातें निराधार हैं। लेकिन जैसा मैंने कहा, मैंने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और अपने साथ हुयी घटना की जानकारी उन्हें दी।
श्वेता ने कहा कि विवाद के दौरान कुछ लोगों ने उनकी छवि खराब करने की कोशिश की। उन्होंने हालांकि इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि कानून के अनुसार पुलिस उनका बयान दर्ज कर सकती है। उन्होंने कहा, मैं इन सब बातों से अवगत नहीं हूं। मुझे ऐसे मामलों में कुछ नहीं कहना है। श्वेता ने जर्नलिस्ट्स प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए ‘थीम सांग’ को जारी किया। इस प्रतियोगिता का आयोजन तिरूवनंतपुरम प्रेस क्लब कर रहा है। उन्होंने क्लब के वोमेन्स फोरम का भी उद्घाटन किया। (एजेंसी)