केजरीवाल के इस्तीफे की धमकी सिर्फ ड्रामा: हर्षवर्धन

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर जनलोकपाल बिल दिल्ली विधानसभा में पास नहीं हुआ तो वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।

अंतिम अपडेट: Feb 10, 2014, 12:23 PM IST

ज़ी मीडिया ब्यूरो
नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि अगर जनलोकपाल बिल दिल्ली विधानसभा में पास नहीं हुआ तो वह अपने पद से इस्तीफा दे देंगे। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी जनलोकपाल के रास्ते में अड़ंगा लगाने की कोशिश कर रही हैं और अगर विधानसभा में उन्होंने इस बिल में अड़ंगा लगाया तो वह अपनी कुर्सी छोड़ देंगे।
वहीं इस मुद्दे पर बीजेपी नेता हर्षवर्धन ने ट्वीट कर कहा है कि अरविंद केजरीवाल जी आपने जनलोकपाल के मुद्दे पर हर जगह इतना हंगामा मचा रखा है, लेकिन अभी तक विधायकों को इसकी कॉपी नहीं दी है, ड्रामा बंद कीजिए, बीजेपी आपको इस तरह से इस्तीफा देकर भागने नहीं देगी। हम लोग जनलोकपाल के समर्थन और भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए समर्पित हैं।
दूसरी तरफ कांग्रेस नेता हारुन यूसुफ का कहना है कि कांग्रेस भ्रष्टाचार के खिलाफ आने वाले बिल के विरोध में नहीं है, लेकिन अगर कुछ भी गैर−संवैधानिक होगा तो दिल्ली की जनता उसे कभी स्वीकार नहीं करेगी। वहीं बीजेपी ने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल जिम्मेदारी से भाग रहे हैं। वह लोगों को इमोशनल ब्लैकमेल कर रहे हैं।
केजरीवाल ने कहा, ‘देश से भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए, मुख्यमंत्री की कुर्सी सौ बार न्यौछावर कर सकता हूं। यदि जनलोकपाल विधेयक और स्वराज विधेयक पारित नहीं हो सका तो सरकार गिर जाएगी।’ केजरीवाल की पार्टी आप ने मतदाताओं से जो वादा किया था उसमें भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए जनलोकपाल विधेयक लाना प्रमुख था।
उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘देश में स्वराज स्थापित करने के लिए मुख्यमंत्री की कुर्सी 100 बार कुर्बान की जा सकती है। मैं यहां पर मुख्यमंत्री बनने के लिए नहीं आया हूं। मैं यहां देश से भ्रष्टाचार का खात्मा करने के लिए आया हूं।’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह जनलोकपाल और स्वराज विधेयकों के मुद्दे पर पद छोड़ने के लिए तैयार हैं, उन्होंने कहा, ‘मैं तैयार हूं।’
(एजेंसी इनपुट के साथ )