सीएम केजरीवाल ने किया भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने का वादा

Last Updated: Saturday, December 28, 2013 - 16:01

नई दिल्ली : शासन की राजनीति में नए युग की शुरूआत करते हुए अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और भ्रष्टाचार मुक्त सरकार देने का वायदा किया। साथ ही उन्होंने कांग्रेस और भाजपा सहित सभी दलों से उनकी सरकार को समर्थन देने की अपील की।
ऐतिहासिक रामलीला मैदान में आयोजित शपथ समारोह के अवसर पर केजरीवाल ने अपने मंत्रियों और पार्टी के लोगों को चेतावनी दी कि वे सत्ता के अंहकार में नहीं आएं। उन्होंने कहा, ‘‘हमारा जन्म बड़ी राजनीतिक पार्टियों के अंहकार को खत्म करने के लिए हुआ है। हमें सावधान रहना चाहिए कि कोई अन्य दल को हमें नष्ट करने के लिए पैदा नहीं होना पड़े।’’ दिल्ली विधानसभा में अगले सप्ताह होने वाले उनकी सरकार के विश्वास मत प्रस्ताव का उल्लेख करते हुए आम आदमी पार्टी के इस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी को इसके गिरने या पारित होने की कोई परवाह नहीं है। ‘‘हम यहां सत्ता हथियाने नहीं आए हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘विश्वास मत प्रस्ताव में हम सफल होते हैं या असफल अगर असफल होते हैं तो हम चुनाव का सामना करने को तैयार हैं। हम फिर चुनाव के मैदान में उतरेंगे और जनता हमें भारी बहुमत के साथ जितायेगी।’’
करीब ढाई साल पहले अन्ना हजारे के जन लोकपाल आंदोलन के साक्षी बने रामलीला मैदान में छह मंत्रियों के साथ शपथ ग्रहण करने के बाद केजरीवाल ने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है और दिल्ली के हर नागरिक ने मुख्यमंत्री और मंत्री पद की शपथ ली है। उन्होंने कहा, ‘‘सारी लड़ाई, सारी कवायद केजरीवाल के लिए नहीं बल्कि सत्ता के किले तोड़कर सत्ता आम आदमी के हाथ में देने के लिए है।’’ केजरीवाल ने देश के बड़े राजनीतिक दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश की राजनीति से सबकुछ बर्बाद कर दिया था। जनता निराश हो चुकी थी लेकिन इस चुनाव ने दिखा दिया कि ईमानदारी से चुनाव लड़ा भी जा सकता है और जीता भी जा सकता है।
उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जबरदस्त सफलता को ‘कुदरत का करिश्मा’ बताते हुए कहा कि 2 साल पहले सोचा भी नहीं था कि भ्रष्ट पार्टियों को उखाड़ फेंकने के लिए इस कदर माहौल बनेगा। केजरीवाल ने अन्ना हजारे के आंदोलन को याद करते हुए कहा कि ढाई साल पहले अन्ना ने जन लोकपाल के लिए 13 दिन तक अनशन किया था और दो साल तक अनशन, धरने, प्रदर्शन चलते रहे। लेकिन बाद में लगा कि राजनीति बदले बिना यह संभव नहीं है।
उन्होंने कहा, ‘‘अन्ना कहते थे कि राजनीति कीचड़ है इसमें घुसकर खुद को गंदा नहीं करना चाहिए। मैं उनसे कहता था कि कीचड़ में घुसकर ही हमें उसे साफ करना होगा।’’ केजरीवाल ने दिल्ली में आप की सरकार के सामने आगे की चुनौतियां स्वीकार करते हुए कहा कि यह लड़ाई दिल्ली की डेढ़ करोड़ जनता की मदद से ही लड़ी जा सकती है।
दिल्लीवासियों के नये मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमें इस बात का गुमान नहीं है कि हम सारी समस्याओं का समाधान रातोंरात कर देंगे। हमारे पास कोई जादू की छड़ी नहीं है कि आज सरकार बनी और आज ही सब समस्याएं हल हो जाएंगी। हमें मिलकर दिल्ली को चलाना पड़ेगा।’’ आप नेता ने कहा कि भ्रष्ट ताकतें हमारे सामने अड़चनें लाएंगी। हमें इस तरह की खबरें भी मिल रहीं हैं। लेकिन सचाई का रास्ता कांटो भरा होता है।
उन्होंने कहा, ‘‘फल तो हमारे हाथ में नहीं है लेकिन हे प्रभु हमें इतनी सद्बुद्धि, इतना साहस देना कि सचाई के रास्ते पर चलते रहें।’’ केजरीवाल ने भाजपा और कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार रहे डॉ हषर्वर्धन अच्छे व्यक्ति हैं लेकिन ‘मैं उनकी पार्टी के बारे में यह नहीं कह सकता।’ नये मुख्यमंत्री ने इन दोनों दलों समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों के नेताओं से अनुरोध किया कि यदि उनकी अंतरात्मा उन्हें ईमानदारी के साथ देश सेवा करने के लिए कहती है तो वे अपनी पार्टियों को भूलकर आ जाएं और मिलकर काम करें। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल से देश में कुछ अद्भुत हो रहा है और उम्मीद जताई कि अगले पांच साल में देश फिर से सोने की चिड़िया कहलाएगा।
केजरीवाल ने दिल्ली में सरकारी स्कूलों और सरकारी अस्पतालों की समस्याओं, जल, बिजली और सड़कों की बुरी हालत के पीछे अब तक की राजनीति को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि हम इस राजनीति को मिलकर साफ करेंगे। उन्होंने अपनी पूर्व साथी संतोष कोली को भी याद किया जिनकी एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी। केजरीवाल ने दिल्ली की अफसरशाही के सामने चुनौतियों की बात करते हुए कहा कि कुछ ही अधिकारी भ्रष्ट हैं और अधिकतर अफसर ईमानदारी के साथ देश की सेवा करना चाहते हैं। अपने भाषण के अंत में केजरीवाल ने उपस्थित जनता को रिश्वत नहीं लेने और रिश्वत नहीं देने की शपथ दिलाई और ‘इंसान का इंसान से हो भाईचारा’ बोल वाली प्रार्थना भी गाई। (एजेंसी)



First Published: Saturday, December 28, 2013 - 16:00


comments powered by Disqus