सिंधिया स्कूल रैगिंग केस : 3 छात्रों, दो कर्माचरियों पर FIR दर्ज

ज़ी मीडिया ब्‍यूरो | Updated: Aug 26, 2014, 11:16 AM IST
सिंधिया स्कूल रैगिंग केस : 3 छात्रों, दो कर्माचरियों पर FIR दर्ज

ज़ी मीडिया ब्यूरो

ग्वालियर : सिंधिया स्कूल में बिहार के एक मंत्री के 14 साल के बेटे के साथ रैगिंग की पुष्टि हो जान के बाद पुलिस ने स्कूल के तीन छात्रों एवं दो कर्मचारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। ग्वालियर के एसडीएम ने छात्र आदर्श कुमार सिंह के साथ रैगिंग किए जाने की पुष्टि की है। रैगिंग से परेशान होकर आदर्श ने कथित रूप से आत्महत्या करने की कोशिश की।
 
रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि पीड़ित छात्र आदर्श कुमार सिंह ने रैगिंग की शिकायत प्रबंधन से की थी लेकिन प्रबंधन कोई कदम उठाने में नाकाम रहा। कक्षा 9वीं के छात्र आदर्श ने प्रबंधन को बताया था कि उसके साथ पिछले कई दिनों से रैंगिग की जा रही थी।

ग्वालियर के जिलाधिकारी पी नरहरि ने जांच रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि स्कूल वार्डन एवं घर के मालिक को आदर्श के साथ हो रही इस घटना की जानकारी रही होगी क्योंकि आदर्श ने प्रबंधन से इसकी शिकायत की थी।   

इसके पहले जिला प्रशासन ने बिहार के सहकारिता मंत्री जयकुमार सिंह के 13 वर्षीय पुत्र आदर्श सिंह द्वारा आत्महत्या का प्रयास किये जाने के मामले में स्कूल के कुप्रबंधन को जिम्मेदार ठहराया। प्रशासन ने कहा कि आदर्श के साथ रैगिंग की जानकारी होने के बावजूद स्कूल प्रबंधन ने कोई कदम नहीं उठाया।

रिपोर्ट के अनुसार स्कूल में मोबाइल पर प्रतिबंध होने के बावजूद आदर्श द्वारा दस दिन पहले फेस बुक पर अपनी फोटो अपलोड की गई थी और सीनियर छात्र भी अपनी फोटो अपलोड करना चाहते थे और इसी के कारण उन्होंने आदर्श को प्रताड़ित करना शुरु किया। जिलाधिकारी ने कहा कि इस मामले में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने बताया कि आगे की कार्यवाही के लिये वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर इस रिपोर्ट की प्रतिलिपी भेजी गई है।

नरहरि ने बताया कि इसके अलावा स्कूल प्रबंधन से सर्वोच्च न्यायालय द्वारा रैगिंग को लेकर दिये गये निर्देशों के संबंध में की गई कार्यवाही से अवगत कराने के लिये पत्र भी लिख गया है।

उल्लेखनीय है कि 20 अगस्त की रात आदर्श को होस्टल के कमरे के बाहर संदिग्ध अवस्था में तड़पता पाया गया था। उसके गले में चादर लिपटी थी। उसे एक निजी चिकित्सालय में इलाज के बाद दिल्ली के अपोलो अस्पताल में भेजा गया, जहां उसकी स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है।

.