निर्दलीय विधायक शौकीन 'आप' से समर्थन वापस लेंगे

दिल्ली की केजरीवाल सरकार संकट में घिरती जा रही हैं। निर्दलीय विधायक रामबीर शौकीन ने केजरीवाल से समर्थन वापसी का ऐलान कर दिया है।

Updated: Feb 10, 2014, 02:39 PM IST

नई दिल्ली: दिल्ली के निर्दलीय विधायक रामबीर शौकीन ने सोमवार को कहा कि वह आम आदमी पार्टी (आप) से समर्थन वापस ले लेंगे। उनका कहना है कि सरकार बिजली और पानी के मसले सुलझाने में नाकाम रही है। शौकीन ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वादा किया था कि हमारी मांगे पूरी की जाएंगी। अब तक कुछ भी नहीं हुआ है, इसलिए मैं अपना समर्थन वापस ले रहा हूं।
जनता दल (युनाइटेड) के विधायक शोएब इकबाल, शौकीन और आप के निष्कासित विधायक विनोद कुमार बिन्नी ने दो फरवरी को केजरीवाल से बिजली और पानी की दरें कम करने और महिलाओं की सुरक्षा सहित अन्य मांगे की थी और इसे नहीं पूरे होने पर सरकार से समर्थन वापस लेने की धमकी दी थी।
इकबाल और शौकीन ने तीन फरवरी को केजरीवाल से मुलाकात की थी और उन्होंने दावा किया था कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांगों पर अमल करने का आश्वासन दिया है। शौकीन ने कहा कि इसके बाद से काफी वक्त बीत चुका है और केजरीवाल हमारी मांग का कोई जवाब नहीं दे रहे हैं।
आप ने 2013 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में 28 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी, और कांग्रेस के बाहर से मिले समर्थन से सरकार बनाई है, जिसके पास विधानसभा में आठ सीटें हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 31 सीटें जीती हैं, जबकि अकाली दल, जद (यु) को एक-एक सीट पर जीत मिली है। विधानसभा में एक निर्दलीय उम्मीदवार भी चुन कर आया है।
आप के 28 विधायकों में एक को विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया है, जबकि बिन्नी को पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से निष्कासित कर दिया गया है। इस तरह पार्टी के पास सिर्फ 26 विधायक ही हैं। (एजेंसी)