प्रदर्शनकारियों के साथ रेड जोन में दाखिल हुए इमरान और कादरी, इस्लामाबाद में सेना तैनात

Last Updated: Wednesday, August 20, 2014 - 00:48
प्रदर्शनकारियों के साथ रेड जोन में दाखिल हुए इमरान और कादरी, इस्लामाबाद में सेना तैनात

ज़ी मीडिया ब्यूरो

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में विपक्ष के नेता इमरान खान और धर्मगुरू ताहिर उल कादरी नवाज शरीफ के इस्तीफे की मांग को लेकर मंगलवार रात रेड जोन में प्रवेश कर गए। उधर, पाकिस्तान सरकार ने साफ किया है कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अपने पद से इस्तीफा नहीं देंगे। रेड जोन में पीएम आवास और दूतावास स्थित हैं। सुरक्षाकर्मियों से झड़प की आशंका को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। रेड जोन में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी जमा हो गए हैं। पीएम नवाज शरीफ के आवास की सुरक्षा में सेना तैनात हो गई है और सभी दूतावासों को अलर्ट कर दिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान सरकार ने सुरक्षा बलों से प्रदर्शनकारियों पर बल प्रयोग न करने के लिए कहा है। सुरक्षाकर्मियों से बंदूके वापस ले ली गई हैं।

खान और कनाडा आधारित धर्मगुरू ताहिर उल कादरी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सरकार के इस्तीफे की मांग को लेकर पिछले छह दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं जिससे पीएमएल..एन नीत सरकार बचाव की मुद्रा में आ गई है।

खान ने ‘रेड जोन’ की तरफ मार्च शुरू करने से पहले अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मुझसे वादा कीजिए, अगर मेरे साथ कुछ गलत होता है तो आप नवाज शरीफ से बदला लेंगे।’ खान ने रेड जोन की ओर वाहनों का काफिला बढ़ने के दौरान कहा, ‘मैं आ रहा हूं, मैं आपको जवाबदेह बनाने आ रहा हूं।’ खान और कादरी के नेतृत्व में अलग अलग समूह सरकार विरोधी प्रदर्शनों में भाग ले रहे हैं।

‘डान न्यूज’ ने सूत्रों के हवाले से खबर दी कि प्रधानमंत्री शरीफ ने कहा है कि वह किसी भी हालत में इस्तीफा नहीं देंगे।
प्रदर्शनकारियों के संसद की ओर मार्च के बीच, शरीफ सत्तारूढ़ पीएमएल एन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ रेड जोन में अपने आधिकारिक आवास में मौजूद हैं। वह हर गतिविधि पर खुद नजर रखे हुए हैं।

कादरी अपनी बुलेटप्रूफ कार में रेड जोन की ओर बढ़ रहे हैं जबकि खान अपनी पार्टी के नेताओं के साथ एक ट्रक पर सवार थे। सेना के जवानों ने रेड जोन में मोर्चा संभाल लिया है और 111 ब्रिगेड की तैनाती की गई हैं। ड्रोन की भी मदद ली जा रही हैं।

पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ या पाकिस्तान अवामी तहरीक के समर्थकों के रेड जोन में घुसने पर अप्रिय घटना की आशंका के कारण लेफ्टिनेंट जनरल कमर बाजवा ने कांस्टीट्यूशनल एवेन्यू पर स्थित प्रमुख सरकारी प्रतिष्ठानों की सुरक्षा को लेकर समन्वय के लिए इस्लामाबाद पुलिस के शीर्ष अधिकारियों से बात की है।

खान ने कहा कि हम ‘अवैध’ संसद भवन की तरफ शांतिपूर्ण तरीके से केवल मार्च करेंगे और इसके सामने धरना देंगे। हम रेड जोन को ग्रीन जोन में बदल देंगे। खान ने कहा, ‘हमारा आजादी मार्च संवैधानिक और लोकतांत्रिक है।’ उन्होंने धरना स्थल में जहाज के एक कंटेनर में रात गुजारी। हालांकि, सरकार ने प्रदर्शनकारियों को ‘रेड जोन’ में घुसने से अभी तक रोक रखा है जहां संसद भवन, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री आवास तथा विभिन्न देशों के दूतावास सहित अन्य महत्वपूर्ण इमारतें हैं।

खान ने शरीफ की पार्टी पीएमएल एन पर 2013 के आम चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया है और उनसे इस्तीफा देने की मांग की है। शरीफ की पार्टी को इस चुनाव में शानदार जीत मिली थी। यह चुनाव दो लोकतांत्रिक सरकारों के बीच सत्ता का प्रथम हस्तांतरण था।

वर्ष 2013 के चुनाव में शरीफ की पार्टी पीएमएल एन को 190 सीटें मिली थी। खान की पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (पीटीआई) को 342 सदस्यीय नेशनल एसेंबली में 34 सीटें मिली थी। खान के मार्च करने के आह्वान के बाद सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गई है।

(एजेंसी इनपुट के साथ)



First Published: Tuesday, August 19, 2014 - 23:31


comments powered by Disqus