एशिया दौरा रद्द कर ‘एक अवसर गवां दिया’ : ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रिपब्लिकन सांसदों के साथ सहमति न बन पाने की वजह से देश में सरकार का कामकाज ठप होने के कारण अपना एक सप्ताह का एशिया दौरा रद्द किए जाने को ‘एक अवसर गवां देना’ करार दिया लेकिन उम्मीद जताई कि उनकी अनुपस्थिति से क्षेत्र में कोई दूरगामी असर नहीं पड़ेगा।

Updated: Oct 9, 2013, 09:36 AM IST

वॉशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रिपब्लिकन सांसदों के साथ सहमति न बन पाने की वजह से देश में सरकार का कामकाज ठप होने के कारण अपना एक सप्ताह का एशिया दौरा रद्द किए जाने को ‘एक अवसर गवां देना’ करार दिया लेकिन उम्मीद जताई कि उनकी अनुपस्थिति से क्षेत्र में कोई दूरगामी असर नहीं पड़ेगा।
ओबामा ने कल कहा ‘संक्षेप में मैं इसे अवसर गवां देना कहूंगा। बहरहाल, हम एक महत्वपूर्ण देश लगातार बने रहेंगे।’ अमेरिकी राष्ट्रपति को एक सप्ताह के एशिया दौरे में इंडोनेशिया, ब्रुनेई, मलेशिया और फिलिपीन जाना था। उन्होंने कहा कि इस दौरे के रद्द होने की वजह से क्षेत्र में अमेरिकी प्रभाव पर कोई दूरगामी असर नहीं पड़ेगा।
उन्होंने कहा ‘एशिया में ऐसे कई देश हैं जो हमारी नीतियों को पसंद करते हैं क्योंकि वह हमारे साथ कारोबार करना चाहते हैं, हमारी अर्थव्यवस्था तथा हमारे उद्यमियों की वह तारीफ करते हैं। उन्हें पता है कि हमारे साथ काम करते हुए उनका विकास संभव हो रहा है।’
ओबामा ने कहा कि ये देश हमारे बनाए हुए सुरक्षा माहौल का ध्यान रखते हैं, उसे बनाए रखने में मदद करते हैं तथा उनके लिए वाणिज्य व्यापार सहित कई पक्ष महत्वपूर्ण हैं। ‘इसलिए ऐसा नहीं है कि उनके पास जाने के लिए दूसरा रास्ता मिल जाएगा या नहीं। वह हमारे साथ बने रहना और हमारे साथ काम करना चाहते हैं।’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि न जा पाने के लिए उन्होंने मेजबान देशों से माफी मांगी। ‘मैं आपको कह सकता हूं कि मुझे कुछ मेजबान देशों से माफी मांगनी पड़ी। वे समझते हैं कि मैं उनके लिए, द्विपक्षीय संबंधों और अमेरिका की प्रतिष्ठा के लिए जो सर्वाधिक महत्वपूर्ण काम कर सकता हूं वह यह सुनिश्चित करना है कि हम गलत नहीं हैं।’ उन्होंने कहा कि इन बैठकों में से प्रत्येक में बहुत कामकाज किया गया।
यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी अनुपस्थिति से चीन को लाभ होगा, उन्होंने कहा ‘कुछ विषयों पर हमारे बीच मतभेद हैं और वह अपने विचार पेश कर सकते हैं। हालांकि विदेश मंत्री जॉन केरी वहां हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि वह अच्छा काम करेंगे।’ ओबामा ने दोहराया कि चीन के साथ अमेरिका का सहयोग ऐसा नहीं है कि जिसका नतीजा शून्य हो। उन्होंने कहा कि कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां चीनी और अमेरिकी एक दूसरे से सहमत हैं। (एजेंसी)