पाकिस्तान के साथ व्यापक सैन्य सहयोग चाहता है चीन

चीन ने पाकिस्तान के साथ ‘व्यावहारिक सैन्य सहयोग’ को बढ़ाने पर जोर दिया है ताकि बदलती हुई वैश्विक सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता की संयुक्त रूप से सुरक्षा की जा सके।

Updated: Feb 28, 2014, 05:42 PM IST

इस्लामाबाद : चीन ने पाकिस्तान के साथ ‘व्यावहारिक सैन्य सहयोग’ को बढ़ाने पर जोर दिया है ताकि बदलती हुई वैश्विक सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर क्षेत्रीय शांति एवं स्थिरता की संयुक्त रूप से सुरक्षा की जा सके।
पाकिस्तान के आधिकारिक दौरे पर पहुंचे चीन के रक्षा मंत्री चांग वांगकुआन ने कहा कि दोनों देशों के बीच ‘सदाबहार दोस्ती’ दोनों पक्षों का रणनीतिक चयन है। उन्होंने कहा, ‘चीन और पाकिस्तान को क्षेत्रीय शांति और स्थिरता की संयुक्त रूप से सुरक्षा करने के लिए व्यावहारिक सैन्य सहयोग बढ़ाना चाहिए।’ पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के साथ मुलाकात के दौरान चांग ने कहा कि द्विपक्षीय सैन्य संबंधों को बदलते अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति को देखते हुए द्विपक्षीय संबंधों को निकटवर्ती बनाना चाहिए।
उन्होंने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से भी मुलाकात की। शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा और क्षेत्रीय अखंडता के लिए मिल रहे चीन के सहयोग को बहुत अधिक महत्व देता है। दोनों देश महत्वाकांक्षी काशगर-ग्वादर व्यापार कोरिडोर पर काम कर रहे हैं। यह कोरिडोर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजरेगा। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की सीमा चीन के हिंसाग्रस्त जिनजियांग प्रांत से लगती है। (एजेंसी)