माली में अपहरण के बाद फ्रांस के दो पत्रकारों की हत्या

Last Updated: Sunday, November 3, 2013 - 13:37

बामाको : माली में सशस्त्र लोगों द्वारा अपहृत किए गए रेडियो फ्रांस इंटरनेशनल (आरएफआई) के दो पत्रकार मृत पाए गए हैं।
आरएफआई ने बताया कि गिस्लेने दूपों और क्लाउड वलरें एक अलगाववादी संगठन नेशनल मूवमेंट फोर द लिबरेशन ऑफ अजावाद के प्रवक्ता के साक्षात्कार के लिए शनिवार को किदाल गए थे जहां प्रवक्ता के घर के बाहर उनका अपहरण कर लिया गया।
आरएफआई ने बताया कि एमएनएलए के प्रवक्ता अम्बेरी अग रिस्सा ने बताया कि उन्होंने अपने घर के बाहर शोरगुल सुना और देखा की कुछ लोग पत्रकारों का अपहरण कर रहे थे।
आरएफआई ने बताया कि पगड़ी पहने अपहरणकर्ताओं ने रिस्सा को घर में जाने का आदेश दिया। प्रवक्ता ने कहा कि वलरें और दूपों ने अपहरणकर्ताओं से खुद को बचाने की कोशिश की।
फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रैंकोइस होलांदे ने अपने कार्यालय से जारी एक विज्ञप्ति में इस निंदनीय कृत्य पर अपना आक्रोश प्रकट किया है। उन्होंने पत्रकारों की हत्या के कारण का पता लगाने और इस मामले पर बात करने के लिए अपने मंत्रियों की एक बैठक बुलाई है।
फ्रांस के राष्ट्रपति कार्यालय ने बताया कि होलांदे और माली के नेता इब्राहिम बोउबाकर केटा ने फोन पर बात की और उत्तरी माली में मौजूद आतंकवादी संगठनों के खिलाफ लगातार लड़ाई जारी रखने की प्रतिबद्धता जताई। (एजेंसी)



First Published: Sunday, November 3, 2013 - 13:37
comments powered by Disqus