युवक की पुलिस से दरख्वास्त, दारोगा जी मेरा 'दिल' चोरी हो गया, कृपया ढूंढकर लाइए

टीवी, फ्रिज, कूलर, एसी, मोबाइल चोरी की शिकायतें तो आपने बहुत सुनी होंगी या हो सकता है खुद भी करवाई हों. पर जरा सोचकर बताइए कि क्या कभी दिल चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई है.

युवक की पुलिस से दरख्वास्त, दारोगा जी मेरा 'दिल' चोरी हो गया, कृपया ढूंढकर लाइए
सांकेतिक तस्वीर

नागपुर : अक्सर लोग पुलिस के पास तब जाते हैं, जब उन्हें कोई दस्तावेज वैरीफाई करवाने होते या फिर हमारा कोई सामान चोरी हो जाता है. टीवी, फ्रिज, कूलर, एसी, मोबाइल चोरी की शिकायतें तो आपने बहुत सुनी होंगी या हो सकता है खुद भी करवाई हों. पर जरा सोचकर बताइए कि क्या कभी दिल चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज कराई है.

सुनकर ही अटपटा सा लगता है. लेकिन महाराष्ट्र के नागपुर में ऐसा हुआ है. नागपुर में पुलिसवाले उस वक्त हैरान हो गए, जब एक युवक दिल 'चोरी' होने की शिकायत लेकर थाने में पहुंचा. युवक शिकायत दर्ज कराना चाहता था कि एक लड़की ने उसका दिल 'चुरा' लिया. 

हैरत में आ गए थाना इंचार्ज
पुलिसकर्मियों को अक्सर चीजें गायब होने की शिकायत सामने मिलती हैं, लेकिन इस अजीब केस ने पुलिस थाने के इंचार्ज को हैरानी में डाल दिया. इस केस का समाधान ढूंढ़ने के लिए उन्होंने अपने सीनियर अधिकारियों से सलाह ली. मामले को लेकर सीनियर अधिकारी इस निष्कर्ष पर पहंचे कि भारतीय कानून के तहत ऐसी कोई धारा नहीं है, जिसके तहत उस युवक की शिकायत दर्ज की जा सके. 

कानून के तहत नहीं मिला समस्या का समाधान
आखिरकार पुलिसकर्मियों ने उस युवक से कहा कि उनकी समस्या का समाधान उनके पास नहीं है. इसके बाद युवक थाने से चला गया. एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि नागपुर के एक थाने में यह घटना हुई है. इस घटना का जिक्र नागपुर पुलिस कमिश्नर भूषण कुमार ने उपाध्याय ने पिछले सप्ताह एक प्रोग्राम के दौरान किया, जहां पुलिस विभाग ने 82 लाख रुपए का सामान उनके मालिकों को लौटाया है. मीडिया से बात करते हुए उपाध्याय ने मजाक के मूड में कहा, 'हम लोग चोरी की चीजें लौटा सकते हैं, लेकिन कई बार हमें ऐसी शिकायतें भी मिलती, जिनका कोई समाधान नहीं है.'

इनपुट-एजेंसी से भी...