सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति के रूप में अमेरिका की जगह नहीं ले पाएगा चीन : डोनाल्ड ट्रंप

चीन और अमेरिका के बीच फिलहाल व्यापार युद्ध चल रहा है. दोनों देशों ने एक दूसरे के बीच वस्तुओं के कारोबार पर कर लगा रखा है. 

सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति के रूप में अमेरिका की जगह नहीं ले पाएगा चीन : डोनाल्ड ट्रंप
डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि उन्होंने जब ‘मेड इन चाइना 2025’ नीति के बारे में चीन वालों से अपनी चिंता जाहिर की तो उन्होंने इस कार्यक्रम को छोड़ दिया. (फोटो साभार - रॉयटर्स)

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी नीतियों की तारीफ करते हुए कहा है कि चीन अब शीर्ष वैश्विक अर्थव्यवस्था के तौर पर अमेरिका की जगह नहीं ले पाएगा. चीन और अमेरिका के बीच फिलहाल व्यापार युद्ध चल रहा है. दोनों देशों ने एक दूसरे के बीच वस्तुओं के कारोबार पर कर लगा रखा है. 

व्हाइट हाउस में बुधवार को डोनाल्ड ट्रंप ने कहा,‘चीन दो साल के भीतर आर्थिक महाशक्ति के रूप में हमारी जगह ले लेता, लेकिन अब वह करीब भी नहीं है.’ अमेरिका इस समय दुनिया की शीर्षस्थ अर्थव्यवस्था है, वहीं चीन ने जापान को पीछे छोड़कर दूसरी सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति की जगह ले ली है.

और क्या बोले डोनाल्ड ट्रंप ?
डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि उन्होंने जब ‘मेड इन चाइना 2025’ नीति के बारे में चीन वालों से अपनी चिंता जाहिर की तो उन्होंने इस कार्यक्रम को छोड़ दिया. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा,‘चीन ने अपने ‘चाइना 2025’ कार्यक्रम को छोड़ दिया क्योंकि मुझे यह बहुत अपमानजनक लगा था. मैंने उन्हें यह बात बताई.’

डोनाल्ड ट्रंप इस महीने के अंत में अर्जेंटीना की राजधानी ब्यूनस आयर्स में जी-20 की बैठक में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात कर सकते हैं. संभावना व्यक्त की जा रही है कि वहां मुख्य रूप से व्यापार विषय पर चर्चा होगी. अमेरिका और चीन के बीच बातचीत में गतिरोध की स्थिति बनी हुई है, लेकिन ट्रंप ने कहा कि उन्हें चीन के राष्ट्रपति के साथ अच्छी मुलाकात की उम्मीद है.