PICS: इस फेस्टिवल में दिखेगी राजस्थान की शान, ब्यूटी पार्लर में साज-श्रृंगार कर रहे ऊंट

बीकानेर में शुरू होने वाले इंटरनेशनल कैमल फेस्टिवल शुरू होने वाला है जिसके चलते ऊंटों को इस प्रतियोगिता के लिए साज सज्जा के साथ तैयार किया जा रहा है. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jan 10, 2019, 11:08 AM IST

आपने इंसानों को तो ब्यूटी पॉर्लर जाते हुए देखा होगा लेकिन क्या कभी आपने सुना है कि ऊंट भी सजने, संवरने के लिए पार्लर जा रहे हैं. अगर आपको यह सुनकर हैरानी हो रही है तो आपको बता दें कि राजस्थान के बीकानेर में शुरू होने वाले इंटरनेशनल कैमल फेस्टिवल शुरू होने वाला है जिसके चलते ऊंटों को इस प्रतियोगिता के लिए साज सज्जा के साथ तैयार किया जा रहा है. 

1/5

विदेशी मेहमान कर रहे ऊंटों को तैयार

International Camel Festival, Bikaner, Rajasthan News

राजस्थान के ऊंट अब संजने सवरने लगे हैं. जापान से आए विदेशी मेहमान इन खास ऊंटों से को सजाने का काम कर रहे हैं. इन ऊंटों के शरीर पर खूबसूरत कलाकारी की जा रही है. जापान से आए सैलानियों द्वारा भी इन ऊंटों को संजाया जा रहा है और इन पर राजस्थान की संस्कृति को ही दर्शाया जा रहा है.

2/5

12 और 13 जनवरी को है इंटरनेशनल ऊंट फेस्टिवल

International Camel Festival, Bikaner, Rajasthan News

आपको बता दें, 12-13 जनवरी को होने वाले इस फेस्टिवल में ऊंटो को लेकर खास प्रतियोगिता होनी हैं. जिसके चलते इन ऊंटों पर इस तरह से कलाकारी की जा रही है. हालांकि, जो भी हो लेकिन ये सभी ऊंट इन कलाकारियों के साथ बेहद ही खूबसूरत लग रहे हैं. 

 

3/5

जापान की मेघुवी को है ऊंटों से खास लगाव

International Camel Festival, Bikaner, Rajasthan News

गौरतलब है कि जापान की मेघुवी पिछले 6 साल से बीकानेर में कैमल फेस्टिवल के लिए आ रही हैं. वह पेशे से डिजाइनर हैं और ऊंटों के प्रति अपने प्यार के कारण वह हर साल यहां खिंची चली आती हैं. 

 

 

4/5

हर साल ऊंट फेस्टिवल पर बीकानेर आती हैं मेघुवी

International Camel Festival, Bikaner, Rajasthan News

वह यहां ऊंटों पर कलाकृतियां बनाती हैं जो राजस्थान की संस्कृति से प्रेरित होती है और इसके लिए वह किसी तरह की फीस नहीं लेतीं. इसी कारण जापान में रहने वाली एक मेघुवी महिला हर साल ऊंटों से अपने प्यार को लेकर यहां खिंची चली आती है

 

5/5

मेघुवी पेशे से डिजाइनर हैं

International Camel Festival, Bikaner, Rajasthan News

मेघुवी का कहना हैं की उन्हें यहां कि संस्कृति उन्हें पसंद हैं और वो हर साल यहां आती हैं इस बार भी वो कुछ अलग और नए डिजाइन बनाने की कोशिश कर रही हैं. वही ऊंट के मालिक का कहना हैं कि वो भी विदेशी मेहमान की मदद करते हैं.