दलितों के बिना हिंदू धर्म की कल्पना नहीं की जा सकती: योगी आदित्यनाथ

शनिवार के अंक की बात करें तो सभी अखबारों ने सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों द्वारा मीडिया के सामने किए गए खुलासे को प्रमुखता से छापा है.

Jan 13, 2018, 09:55 AM IST

नई दिल्ली: यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे. शनिवार के अंक की बात करें तो सभी अखबारों ने सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों द्वारा मीडिया के सामने किए गए खुलासे को प्रमुखता से छापा है.

1/6

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक जागरण: दलितों को लेकर जारी राजनीति में विपक्ष भले ही मुखर है, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसे कोई विषय ही नहीं मानते. उनकी राय में दलित बनाम ब्राह्मणवाद का नारा लगाने वाले धर्म को नहीं समझते. योगी का स्पष्ट मत है कि 'दलितों के बिना हिंदू धर्म की कल्पना नहीं की जा सकती.' गौरतलब है कि महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव से उपजे दलित बनाम सवर्ण विवाद को लेकर इन दिनों केंद्र सरकार और विपक्ष में राजनीति गरम है. प्रकाश अंबेडकर और कांग्रेस से लेकर उत्तर प्रदेश में बीएसपी प्रमुख मायावती भी मोदी सरकार और बीजेपी पर दलितों की उपेक्षा का आरोप लगा रहे हैं. इसी मुद्दे पर दैनिक जागरण ने यूपी के मुख्यमंत्री और हिंदुत्व के मुखर प्रतीक योगी का पक्ष अपने आज के अंक में प्रमुखता से छापा है.

2/6

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक भास्कर: दिल्ली में हर दिन हार्ट अटैक से 50 या इससे ज्यादा लोगों की मौत होती है. इसे देखते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने एक साल पहले एनडीएमसी चेयरमैन चेयरमैन नरेश कुमार को मॉल, रेस्टोरेंट्स, होटल और मेट्रो जैसे हर पब्लिक प्लेस जहां भीड़ रहती है डीफिब्रिलैटर मशीन लगाने का कहा था. लेकिन, इस पर किसी ने गंभीरता नहीं दिखाई. दैनिक भास्कर ने इस खबर को अपने शनिवार के अंक में प्रमुखता से छापा है. खबर में यह भी बताया गया है कि ड्राई विंटर हार्ट के मरीजों के लिए ज्यादा खतरनाक होती हैं. इस दौरान उन्हें अपना खास ध्यान रखना चाहिए. खबर में तमाम तरह की सावधानियां भी बताई गई हैं जिनको ध्यान में रख आप काफी हद तक हार्ट अटैक की समस्या को दूर कर सकते हैं.

3/6

Top news of hindi and english newspaper

हिन्दुस्तान: सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने शुक्रवार को कहा कि रासायनिक, जैविक और परमाणु हथियारों के उपयोग का खतरा वास्तविक बन रहा है. इससे निपटने के लिए तंत्र जल्द विकसित किए जाने चाहिए. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) में कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए जनरल रावत ने कहा कि जैविक हथियारों से होने वाला नुकसान इतना बड़ा होता है, जिसकी भरपाई करने में लंबा समय लग सकता है. उन्होंने कहा कि देश को सुरक्षित रखने का सबसे अच्छा तरीका सुरक्षा, प्रौद्योगिकी, उपकरण और प्रणालियों को विकसित करना और सैनिकों को उन्नत प्रशिक्षण मुहैया कराना है. हिन्दुस्तान ने इस खबर को अपने अंक के प्रमुख खबरों में शामिल किया है. इस दौरान सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि सेना चीन की किसी भी चुनौती और आक्रामकता से निपटने में सक्षम है.

4/6

Top news of hindi and english newspaper

अमर उजाला: अमर उजाला में छपी एक खबर के मुताबिक सर्जिकल सामान बेचने वाली कंपनी के ऑफर पर अस्पताल प्रबंधन से झूठ बोलकर विदेश घूमने वाले एक डॉक्टर को एक फेसबुक पोस्ट की मदद से पकड़ा गया है. खबर के मुताबिक यह मामला डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल (आरएमएल) का है. अस्पताल के एक विभागाध्यक्ष ने नियमों को दरकिनार कर और प्रबंधन से झूठ बोलकर मिस्त्र की सैर की. लेकिन, उनके साथ गए एक मित्र की फेसबुक पोस्ट से वे पकड़े गए. खबर के मुताबिक डॉक्टर के मित्र ने एक तस्वीर पोस्ट की जिसमें आरएमलएल के हड्डी रोग विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर राजेंद्र कुमार मिस्त्र में पिरामिड के सामने बैठे नजर आ रहे थे.

5/6

Top news of hindi and english newspaper

नवभारत टाइम्स: संदिग्ध आतंकी बिलाल अहमद कावा लालकिला पर 2000 में हुए हमले में शामिल होने से इनकार कर रहा है. लेकिन वह हमले से ठीक पहले अपने अकाउंट में 10 लाख रुपये की ट्रांजेक्शन स्वीकार कर रहा है. इस खबर को नवभारत टाइम्स ने प्रमुखता से छापा है. खबर के मुताबिक स्पेशल सेल सूत्रों का कहना है कि जांच में पाया गया कि हमले से ठीक पहले बिलाल के अकाउंट में 10 लाख रुपये पाकिस्तान की आईएसआई एजेंसी ने हवाला के जरिए ट्रांसफर किए थे. लेकिन इस रकम के बारे में 37 साल के बिलाल का कहना है कि तब वह छोटा था और उसे नहीं पता कि रुपया कहां से आया था. खबर में यह भी बताया गया है कि लाल किला अटैक में बिलाल वॉन्टेड था और कई साल से उसकी तलाश की जा रही थी. उसे पिछले दिनों आईजीआई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था.

6/6

Top news of hindi and english newspaper

टाइम्स ऑफ इंडिया: टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपने शनिवार के अंक में मौसम की एक खबर को प्रमुखता से छापा है जिसमें बताया जा रहा है कि आमतौर पर सर्दियों में उत्तर भारत कोहरे से ढंक जाता है लेकिन दिल्ली में पिछले कुछ समय से अपेक्षाकृत बहुत ही कम धुंध नजर आ रही है. खबर के मुताबिक हर सर्दी में पूरे उत्तर भारत में घना कोहरे छा जाता है लेकिन इस शताब्दी में "अर्बन हीट आइसलैंड" नाम की एक घटना ने इस हफ्ते में नई दिल्ली और कुछ अन्य शहरों में धुंध की इस चादर में छेद छोड़े हैं. खबर में एक स्टडी के माध्यम से बताया गया है कि "अर्बन हीट आइसलैंड" दिल्ली में इतना मजबूत है कि यहा आसपास के क्षेत्रों की तुलना में 50% कम कोहरा नजर आ रहा है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close