हत्या से कुछ देर पहले लिखी कविता ने सुलझा दी मर्डर मिस्ट्री, दोस्त ही निकला हत्यारा

यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Aug 29, 2018, 09:19 AM IST

नई दिल्ली: यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे. बुधवार के अखबारों की बात करें तो सभी अखबारों ने नक्सल समर्थकों पर देश भर में हुए छापे की खबर को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है.

1/5

हत्या से चंद घंटे पहले लिखी कविता ने सुलझाई मर्डर मिस्ट्री

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक भास्कर: दैनिक भास्कर के बुधवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि 17 साल की लड़की की लिखी एक कविता ने दिल्ली की साल भर से उलझी मर्डर मिस्ट्री सुलझा दी है. खबर के मुताबिक श्रेया शर्मा नाम की लड़की का पिछले साल कत्ल कर दिया गया था. मौत से चंद घंटे पहले श्रेया ने एक कविता लिखी थी. कविता को अहम सुराग मानकर छानबीन की गई तो पता चला कि कत्ल लड़की के ही 19 वर्षीय दोस्त सार्थक कपूर ने किया था. खबर में बताया गया है कि सत्र न्यायालय ने लड़के को उम्र कैद की सजा सुनाई. खबर में दी गई जानकारी के मुताबिक पिछले साल 16 अगस्त को श्रेया के गुमशुदा होने की शिकायत पुलिस में की गई थी. तलाश हुई तो दिल्ली के रोहिणी से उसका शव मिला. किसी ने श्रेया की गला दबाकर हत्या की थी. श्रेया के करीबी दोस्त सार्थक से भी पूछताछ हुई. सार्थक के घर से एक खत मिला. इसमें श्रेया की हैंडराइटिंग में कविता लिखी थी. पुलिस ने इस खत के इर्द-गिर्द जांच शुरू की तो हत्या का खुलासा हुआ.

2/5

दिल्ली में दारोगा की बेटी के साथ दुष्कर्म

Top news of hindi and english newspaper

हिन्दुस्तान: हिन्दुस्तान अखबार के बुधवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि दिल्ली पुलिस में तैनात एक सब इंस्पेक्टर की नाबालिग बेटी से द्वारका में मंगलवार को दुष्कर्म की सनसनीखेज वारदात सामने आई है. खबर में बताया गया है कि पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने पॉक्सो, आईटी एक्ट और दुष्कर्म की धाराओं में मामला दर्ज कर नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. खबर से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी का पिता भी दिल्ली पुलिस में सब इंस्पेक्टर है. पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर बाल सुधार गृह भेज दिया है. खबर में जानकारी दी गई है कि पीड़िता ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि उसका चचेरा भाई आरोपी का दोस्त है और उसी ने करीब छह माह पहले दोनों की मुलाकात कराई थी. एक दिन आरोपी ने उसे मिलने के लिए बुलाया व नशीला पदार्थ पिलाकर अश्लील वीडियो बना लिया. खबर के मुताबिक आरोपी ने कई बार वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए.

3/5

दुबले-पतले बदमाश ने लूट लिया प्रोटीन

Top news of hindi and english newspaper

नवभारत टाइम्स: नवभारत टाइम्स के बुधवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि देश की राजधानी दिल्ली में एक लूट कैश और जूलरी के लिए नहीं बल्कि बॉडी बनाने वाले प्रोटीन के लिए हुई है. खबर में जानकारी दी गई है कि इस लूट को अंजाम देने वाला एक दुबल-पतला 20 साल का बदमाश था, जिसका वजन महज 35 किलो रहा होगा. खबर के मुताबिक उस बदमाश का इरादा बदमाशी के लिए बॉडी बनाने का था. खबर में दी गई जानकारी के मुताबिक किसी ने बदमाश को आइडिया दिया कि प्रोटीन खरीदकर खाओ तो आरोपी तीन दोस्तों के साथ प्रोटीन बेचने वाली जिम शॉप पहुंचा और दुकानदार की कनपटी पर पिस्टल सटाकर लाखों के प्रोटीन बैग लेकर फरार हो गया. यही नहीं बदमाश पुलिस द्वारा पकड़ा न जाए, इसके लिए दुकान में लगे CCTV की DVR (रिकॉर्डर) भी साथ ले गया. खबर में बताया गया है कि नॉर्थ रोहिणी पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. घटना रोहिणी सेक्टर-8 के प्रोटीन शॉप की है.

4/5

दवाओं ने बढ़ाया दिल्ली एनसीआर का दर्द

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक जागरण: दैनिक जागरण के बुधवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि एनसीआर के लोग पानी के साथ बेवजह दवाओं का डोज ले रहे हैं, जो बीमार कर सकता है. खबर के मुताबिक एम्स के डॉक्टरों के अध्ययन में पता चला है कि यमुना के पानी और दिल्ली-एनसीआर के भूजल में हानिकारक तत्व तो हैं ही, एंटीबायोटिक दवाओं के अंश भी मौजूद हैं. खबर में आगे लिखा गया है कि इस अध्ययन से बेकार दवाओं यानी मेडिकल वेस्ट के निस्तारण पर सवाल खड़े हो गए हैं. खबर में एम्स के आरपी सेंटर स्थित फार्माकोलॉजी के प्रोफेसर डॉ. टी वेलपंडियन के हवाले से बताया गया है कि दिल्ली-एनसीआर में 40 किमी के दायरे में 42 जगहों से पानी के नमूने लेकर 28 तरह की दवाओं की मौजूदगी का परीक्षण किया गया. इनमें 24 एंटीबायोटिक व चार दर्द व एलर्जी की दवाएं शामिल हैं.

5/5

एनआरसी से बाहर रखे गए 10 फीसदी लोगों का फिर सत्यापन करें: कोर्ट

Top news of hindi and english newspaper

अमर उजाला: अमर उजाला के बुधवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में दावा किया गया है कि सुप्रीम कोर्ट ने असम के नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (एनआरसी) के ड्राफ्ट से बाहर रखे गए 10 फीसदी लोगों का दोबारा सत्यापन कराने का आदेश दिया है. खबर में बताया गया है कि शीर्ष अदालत संतुष्ट होना चाहती है कि एनआरसी को लेकर की गई कवायद पुख्ता है या नहीं. खबर में दी गई जानकारी के मुताबिक न्यायमूर्ति रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति आरएफ नरीमन की पीठ ने एनआरसी कॉर्डिनेटर प्रतीक हाजेला को इस संबंध में विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा है कि जिन लोगों को एनआरसी के अंतिम ड्राफ्ट में शामिल नहीं किया गया है, क्या उन्हें अपनी वंशावली (लीगेसी) बदलने की इजाजत देने से कोई असर पड़ सकता है. खबर के मुताबिक पीठ ने यह भी बताने के लिए कहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में कितना वक्त लगेगा. इसके साथ ही पीठ ने एनआरसी के अंतिम ड्राफ्ट में शामिल न होने वाले लोगों के दावों और आपत्तियों के लिए आवेदन लेने की तारीख बढ़ा दी है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close