यमुना एक्सप्रेसवे पर चलती कार में हुआ युवती संग गैंगरेप, पीड़िता को नहीं दिखी पुलिस

यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे.

Apr 16, 2018, 08:58 AM IST

नई दिल्ली: यहां हम आपको एक-एक कर देश के सभी प्रमुख समाचार पत्रों की बड़ी खबर से रू-ब-रू करवाएंगे. सोमवार के अखबारों की बात करें तो सभी अखबारों ने गैंगरेप की वारदातों के खिलाफ पूरे देश में हुए प्रदर्शनों की खबरों को प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है.

1/5

Top news of hindi and english newspaper

अमर उजाला: अमर उजाला के सोमवार के अंक में छपी एक खबर बताती है कि यमुना एक्सप्रेस वे पर शनिवार को चलती कार में एक युवती के साथ नोएडा से मथुरा तक घंटों दरिंदगी होती रही. खबर में बताया गया है कि 120 किमी लंबे इस एक्सप्रेसवे पर इस दौरान पीड़िता को कहीं भी पुलिसकर्मी नजर नहीं आए. खबर के मुताबिक होंडा सिटी कार के शीशों को काले कपड़े से ढक दिया गया था. युवती की आवाज बाहर किसी को सुनाई न दे इसके लिए तेज म्यूजिक रास्ते भर बजाया गया. जब युवती ने विरोध किया तो उसकी पिटाई भी की गई. यही नहीं एक्सप्रेसवे पर कई जगह सड़क किनारे कार को रोका भी गया था. खबर के मुताबिक हालांकि सूचना मिलते ही तुरंत मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

 

2/5

Top news of hindi and english newspaper

नवभारत टाइम्स: दो केंद्रीय मंत्रियों रामविलास पासवान और उपेंद्र कुशवाहा ने जुडिशरी में आरक्षण की पैरवी की है. नवभारत टाइम्स ने अफने सोमवार के अंक में इस खबर को पहले पन्ने पर प्रमुखता के साथ प्रकाशित किया है. खबर में बताया गया है कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि जब भी हम न्यायपालिका में आरक्षण की मांग करते हैं तो सुप्रीम कोर्ट कहता है कि यह असंवैधानिक है. खबर में पासवान के हवाले से कहा गया है कि इसलिए भारतीय न्यायिक सेवा की स्थापना की जानी चाहिए. इसके लिए प्रतियोगी परीक्षा होनी चाहिए. खबर के मुताबिक पासवान का दावा है कि सुप्रीम कोर्ट में तो एससी-एसटी से एक भी जज नहीं है. हाई कोर्टों में भी प्रतिनिधित्व नहीं के बराबर है. खबर में बताया गया है कि वहीं कुशवाहा ने कहा कि जुडिशरी ऐसा सिस्टम बनाए, जहां गरीब भी सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के जज बन सकें.

3/5

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक भास्कर: आप कौन-कौन सा चैनल कितनी देर तक देखते हैं, यह पता लगाने के लिए सरकार नए सेट-टॉप बॉक्स में चिप लगाने की तैयारी में है. दैनिक भास्कर के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित की गई एक खबर कुछ ऐसा ही दावा करती है. खबर में बताया गया है कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी (ट्राई) के समक्ष यह प्रस्ताव रखा है. खबर में स्मृति ईरानी के मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से बताया गया है कि इसका मकसद हर चैनल के लिए विश्वसनीय व्यूअरशिप डेटा जुटाना है. खबर के मुताबिक सरकार का यह कदम ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल इंडिया ऑफ इंडिया (बार्क) का एकाधिकार खत्म करने के तौर पर भी देखा जा रहा है. आपको बता दें कि बार्क भारत में हर हफ्ते टीवी व्यूअरशिप के आंकड़े देता है.

4/5

Top news of hindi and english newspaper

दैनिक जागरण: दैनिक जागरण के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर छपी एक खबर दावा करती है कि भारतीय राजनयिकों के प्रति पाकिस्तान की नापाक हरकतें जारी हैं. खबर के मुताबिक अब उसने पाकिस्तान पहुंचे सिख तीर्थयात्रियों को भारतीय राजनयिकों से मिलने से रोक दिया साथ ही भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को गुरुद्वारा जाने से रोका गया. विदेश मंत्रलय ने इस पर सख्त विरोध जताया है. खबर में इस बात का जिक्र है कि विदेश मंत्रलय ने रविवार को बताया कि करीब 1,800 सिख तीर्थयात्री 12 अप्रैल से पाकिस्तान की यात्रा पर हैं. तीर्थ यात्री बैसाखी का त्योहार मनाने के लिए रावलपिंडी के गुरुद्वारा पंजा साहिब गए थे. यह एक सामान्य प्रक्रिया है कि भारतीय राजनयिकों को भारत से आने वाले सिख तीर्थयात्रियों के तीर्थस्थल पर जाने और उनसे संपर्क की छूट होती है. काउंसलर और प्रोटोकॉल से जुड़े दायित्व निभाने के लिए भारतीय दूतावास के अधिकारियों को यह छूट दी जाती है. इस छूट का उद्देश्य मेडिकल आपातकाल या ऐसी किसी और मुश्किल में मदद करना है.

 

5/5

Top news of hindi and english newspaper

हिन्दुस्तान: हिन्दुस्तान अखबार के सोमवार के अंक में पहले पन्ने पर प्रकाशित एक खबर में बताया गया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि राम मंदिर वहीं बनेगा जहां पहले था. खबर के मुताबिक उन्होंने कहा कि यदि अयोध्या में राम मंदिर फिर से नहीं बनाया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी. खबर में दावा किया गया है कि भागवत ने पालघर जिले के दहाणु में विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की. खबर में इस बात का भी जिक्र है कि आरएसएस प्रमुख ने कहा, भारत में मुस्लिम समुदाय ने राम मंदिर नहीं तोड़ा. भारतीय नागरिक ऐसी चीजें नहीं कर सकते. विदेशी ताकतों ने मंदिरों को तोड़ा. खबर के मुताबिक उन्होंने आगे कहा, लेकिन आज हम आजाद हैं. हमें उसे फिर से बनाने का अधिकार है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close