2019 चुनाव: उत्तर प्रदेश नहीं, बीजेपी के लिए गेम चेंजर साबित हो सकते हैं ये राज्य

बीजेपी ने 2019 के चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. हाल ही में दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद कई राज्यों की कार्यकारिणी की बैठकें हो रही हैं. 

2019 चुनाव: उत्तर प्रदेश नहीं, बीजेपी के लिए गेम चेंजर साबित हो सकते हैं ये राज्य
अगर महागठबंधन बनने में कामयाब रहा तो बीजेपी के लिए उत्तर प्रदेश में मुश्किल हो सकती है...(फाइल फोटो)

कोलकाता: बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं. हाल ही में दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद कई राज्यों की कार्यकारिणी की बैठकें हो रही हैं. हालांकि अभी तक महागठबंधन की तस्वीर साफ नहीं हो पाई है. बसपा, सपा और कांग्रेस के बीच अभी तक कोई औपचारिक बातचीत शुरू नहीं हुई है. अगर महागठबंधन बनने में कामयाब रहा तो बीजेपी के लिए उत्तर प्रदेश में मुश्किल हो सकती है. ऐसे में बीजेपी ने इसकी भरपाई अन्य राज्यों से करने की रणनीति बनाई है. पार्टी ने पश्चिम बंगाल समेत नॉर्थ-ईस्ट के राज्यों पर फोकस करने की रणनीति बनाई है. इसके अलावा ओडिशा, तेलंगाना से भी पार्टी को उम्मीदें हैं. 

पश्चिम बंगाल में 25 सीटें जीतने का लक्ष्य
बीजेपी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने शुक्रवार को कहा कि पार्टी ने 2019 में आम चुनाव में 25 लोकसभा सीट जीतने का लक्ष्य रखा है. इतना ही नहीं, पार्टी ने 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में ममता सरकार को उखाड़कर फेंकने और सत्ता में कबिज होने का लक्ष्य तय किया है. बीजेपी वाम दलों और कांग्रेस को पछाड़कर पश्चिम बंगाल में पहले ही मुख्य विपक्षी दल बन चुकी है. 2014 के चुनाव में बीजेपी को पश्चिम बंगाल में 2 सीटें मिली थीं. ये दो सीटें उसे आसनसोल और दार्जलिंग की मिली थीं. बीजेपी ने पंचायत चुनाव में बढ़िया प्रदर्शन किया था. उत्तर बंगाल, दक्षिण बंगाल और आदिवासी बहुल क्षेत्रों में पार्टी का प्रभाव बढ़ा है.

इन सीटों पर है बीजेपी की नजर
अगले लोकसभा चुनाव में बीजेपी की नजर उत्तर बंगाल की बालुरघाट, कूच बिहार, अलीपुर द्वार, जलपाईगुड़ी और मालदा उत्तर पर है. इसके अलावा दक्षिण बंगाल की पुरुलिया, झारग्राम, मेदिनीपुर, कृष्णानगर, हावड़ा पर भी बीजेपी जीत की उम्मीद लगाए है. पुरुलिया, झारग्राम, पश्चिमी मिदनापुर, बेंकुरा और उत्तर बंगाल के जिले जैसे जलपाईगुड़ी, उत्तर दिनापुर या मुस्लिम बहुल क्षेत्र मालदा के आदिवासी बहुल क्षेत्रों में बीजेपी की पकड़ मजबूत हुई है.  

अमित शाह आज से राजस्थान के सात दिवसीय दौरे पर, माइक्रो लेवल बूथ मैनेजमेंट पर जोर
अगले लोकसभा चुनाव में बीजेपी की नजर उत्तर बंगाल की बालुरघाट, कूच बिहार, अलीपुर द्वार, जलपाईगुड़ी और मालदा उत्तर पर है.

 
पार्टी से जुड़े सूत्रों ने कहा कि प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में आगामी आम चुनाव में राजनीतिक विरोधियों से लड़ने की रणनीति पर चर्चा की गई और जमीनी स्तर से लेकर विभिन्न स्तरों पर पार्टी की संगठनात्मक शक्ति का आकलन किया गया तथा इसे मजबूत करने पर जोर दिया गया. घोष ने कहा, "हम 2019 के आम चुनाव को बंगाल में सेमी फाइनल के रूप में ले रहे हैं. हमारा लक्ष्य राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 25 पर जीत दर्ज करना है। राज्य में 2021 का विधानसभा चुनाव हमारा फाइनल होगा. हमें ममता बनर्जी सरकार को हराकर राज्य में हर हाल में जीत दर्जकर सत्तारूढ़ होना चाहिए."  

ओडिशा में बीजेडी को चुनौती दे सकती है बीजेपी
ओडिशा में विधानसभा चुनाव, लोकसभा चुनाव के साथ ही हो सकते हैं. ओडिशा में कांग्रेस को पीछे छोड़कर बीजेपी मुख्य विपक्षी पार्टी के रूप में उभरी है. पंचायत चुनाव में पार्टी ने अभूतपूर्व सफलता हासिल की थी. 2014 के चुनाव में बीजेपी ने एक सीट सुंदरगढ़ को जीता था. इस बार पार्टी की नजर इस आंकड़े को दहाई तक पहुंचाना है. उधर, विधानसभा चुनाव के लिए भी बीजेपी ने 147 में से 120 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. देखना है कि पार्टी को इसमें कितनी सफलता मिलती है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close