इस राज्य में बीजेपी के पास है सिर्फ एक सांसद, इस बार 17 सीटों पर है नजर

बीजेपी का पूरा जोर उन राज्यों पर है जिसमें 2014 के चुनाव में खराब प्रदर्शन रहा था. 

इस राज्य में बीजेपी के पास है सिर्फ एक सांसद, इस बार 17 सीटों पर है नजर
अमित शाह कल तेलंगाना में चुनाव तैयारियों की समीक्षा करेंगे..(फाइल फोटो)

हैदराबाद: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बिहार दौरे के बाद हैदराबाद का दौरा करेंगे. अगले साल तेलंगाना में लोकसभा और विधानसभा के संभवत: एक साथ चुनाव होने हैं. शाह तेलंगाना पहुंचकर पार्टी की तैयारियों की समीक्षा करेंगे और चुनाव के लिए एक रणनीति पर चर्चा करेंगे. पार्टी का पूरा जोर उन राज्यों पर है जिसमें 2014 के चुनाव में खराब प्रदर्शन रहा था. इसी रणनीति के तहत बीजेपी तेलंगाना में भी खुद को मजबूत करना चाहती है. राज्य में लोकसभा की 17 सीटें हैं. बीजेपी का तेलंगाना से एक लोकसभा सदस्य और पांच विधायक है. 

बीजेपी विधायक एन रामचंद्र राव ने बताया कि शाह कल शुक्रवार को सुबह साढ़े दस बजे बेगमपेट हवाई अड्डा पर पहुंचेंगे और बाद में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. वह बीजेपी के राज्य मुख्यालय में पार्टी के पूर्णकालिक कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. बीजेपी ने राज्य में सभी विधानसभा क्षेत्रों के लिए एक पूर्णकालिक कार्यकर्ता को नियुक्त किया है. राव ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पार्टी कोर समिति के सदस्यों और महासचिवों से मुलाकात करेंगे. उन्होंने बताया, "कार्यक्रम पूरी तरह संगठनात्मक है. वह राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करेंगे और यहां भविष्य के लिए रणनीति बनाने के वास्ते नेताओं से सीधे जानकारी लेंगे." उन्होंने बताया कि कल रात शहर में अपनी यात्रा पूरा करने से पहले शाह बीजेपी के ‘संपर्क फॉर समर्थन’ के तहत प्रमुख लोगों से भी मुलाकात करेंगे. 

पिछले महीने निकाली थी 'जनचेतना यात्रा'
बीजेपी ने पिछले महीने राज्य के कई जिलों में 14 दिनों तक ‘जन चिंतन यात्रा’ निकाली थी. दक्षिण में कर्नाटक के निकल जाने के बाद बीजेपी की नजर अब तेलंगाना पर है. पार्टी 2019 में राज्य में होने वाले चुनावों की तैयारी में जुट गई है. पार्टी का राज्य में लोकसभा चुनाव में कम से कम 10 सीटें जीतने जीतने का लक्ष्य है. 

इन राज्यों पर भी है बीजेपी का विशेष फोकस 
तेलंगाना ही नहीं, बीजेपी का फोकस आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा पर भी है. पार्टी लगातार इन राज्यों में अपना संगठन को मजबूत कर रही है. पश्चिम बंगाल में बीजेपी अपनी जड़े लगातार जमाने में जुटी है. बीजेपी की टक्कर सीधे तौर पर अब टीएमसी से है. पिछले महीने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पश्चिम बंगाल का दौरा भी किया था और कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाया था. 2014 के लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में बीजेपी की सिर्फ दो सीटें मिली थीं. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो आसनसोल जबकि एसएस आहलूवालिया दार्जीलिंग सीट से जीत पाई थी.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close