गुजरात: महिला कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर ने कहा : रेप के आरोपियों को जिंदा जला देना चाहिए

कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह बलात्कार के आरोपी को पुलिस को सौंपने के बजाय जिंदा जला देने की बात कह रही हैं. 

गुजरात: महिला कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर ने कहा : रेप के आरोपियों को जिंदा जला देना चाहिए
ठाकोर बनासकांठा जिले की वाव सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं.
Play

अहमदाबाद: गुजरात में दो सप्ताह पहले 14 महीने की बच्ची के साथ कथित बलात्कार के बाद प्रदेश की कांग्रेस विधायक गेनीबेन ठाकोर का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह बलात्कार के आरोपी को पुलिस को सौंपने के बजाय जिंदा जला देने की बात कह रही हैं. यह वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ जिसमें महिला विधायक महिलाओं के एक समूह को कथित रूप से यह कह रही हैं. हालांकि, ठाकोर ने स्पष्ट किया कि वह सिर्फ महिलाओं को शांत करने की कोशिश कर रही थीं क्योंकि वे सब 14 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार से आक्रोशित थीं. 

ठाकोर बनासकांठा जिले की वाव सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं. यह वीडियो एक मोबाइल फोन से बनाया गया है और इसमें विधायक कुछ आक्रोशित महिलाओं से घिरी हैं. ठाकोर महिलाओं से कहती दिख रही हैं, "भारत में, हर किसी को कानून की प्रक्रिया (न्याय पाने के लिए) से गुजरना पड़ता है लेकिन, जब कभी ऐसी घटनाएं होती हैं, 50-150 लोगों को एक साथ आना चाहिए और उसी दिन उसे (बलात्कार आरोपी) जला देना चाहिए. उसे खत्म करो, उसे पुलिस को मत सौंपो.’’ 

ठाकोर ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि वह 28 सितंबर की घटना से नाराज महिलाओं को शांत करने की कोशिश कर रही थीं. आरोपी को उसी दिन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. वह बिहार का रहने वाला है. ठाकोर ने कहा, "वीडियो मेरे निवास के अंदर तैयार किया गया था. वह कोई सार्वजनिक रैली या संवाददाता सम्मेलन नहीं था. मैंने करीब 100 महिलाओं को शांत करने के लिए उन शब्दों का प्रयोग किया था जो बलात्कार की घटना को लेकर काफी परेशान थीं. इसके अलावा कोई अन्य इरादा नहीं था." 

गेनीबेन को कांग्रेस के एक अन्य विधायक अल्पेश ठाकोर की करीबी माना जाता है. बच्ची के साथ बलात्कार और आरोपी की गिरफ्तारी के बाद हिंदी भाषी लोगों पर हुए हमलों को लेकर अल्पेश आलोचना का सामना कर रहे हैं. सत्तारूढ़ भाजपा ने हिंसा के लिए अल्पेश ठाकोर और उनके संगठन गुजरात क्षत्रिय-ठाकोर सेना को दोषी ठहराया है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close