लोकसभा चुनाव: राहुल-पवार ने सीटों के बंटवारे पर की चर्चा लेकिन MP में एकदूसरे के खिलाफ लड़ेंगे

हालांकि मध्य प्रदेश दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन नहीं हो सका है और एनसीपी-कांग्रेस एकदूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ेंगी. 

लोकसभा चुनाव: राहुल-पवार ने सीटों के बंटवारे पर की चर्चा लेकिन MP में एकदूसरे के खिलाफ लड़ेंगे
कांग्रेस ने 2014 लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में 26 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे लेकिन सिर्फ दो सीटों पर जीत मिली थी..

मुंबई: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए महाराष्ट्र में सीटों के बंटवारे को लेकर विचार-विमर्श किया. पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक ने शुक्रवार को बताया कि दोनों नेताओं के बीच यह विचार विमर्श गुरुवार को दिल्ली में हुआ. इस बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे एवं अशोक गहलोत तथा एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल भी मौजूद थे. हालांकि बैठक में दोनों के बीच मध्य प्रदेश के लिए सहमति नहीं बना पाई. यहां भी बसपा, सपा की तरह एनसीपी अलग चुनाव लड़ेगी. हो सकता है कि इस मुद्दे पर दोनों नेताओं के बीच चर्चा न हुई हो. 

मलिक के अनुसार एनसीपी ने राज्य में 50:50 सीट बंटवारे का प्रस्ताव रखा. उन्होंने कहा कि दोनों दल इस मुद्दे पर यथाशीघ्र अंतिम निर्णय करना चाहते हैं. कांग्रेस ने 2014 लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में 26 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे जिसमें दो की ही चुनावी नैया पार हो पाई थी.एनसीपी ने 22 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े किए थे जिनमें से चार को ही विजय मिल पाई थी. महाराष्ट्र में 48 लोकसभा सीटें हैं. मलिक ने बताया कि शुक्रवार को पवार ने राकांपा की कोर समिति में 2019 के लोकसभा चुनावों के बारे में विचार-विमर्श किया.

मप्र में 200 सीटों पर चुनाव लड़ेगी एनसीपी
इसी बीच, एनसीपी ने मध्यप्रदेश में 28 नवम्बर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि उनकी पार्टी प्रदेश में कुल 230 सीटों में से 200 से अधिक सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारेगी. पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं महाराष्ट्र के एमएलसी सदस्य राजेन्द्र जैन एवं गुजरात राज्य के पार्टी प्रवक्ता नकुल सिंह ने शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि प्रदेश में भाजपा के कथित कुशासन को उखाड़ने के लिए एनसीपी सभी समान विचारधारा वाले दलों के साथ तालमेल के प्रयास कर रही है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में राकांपा 200 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ेगी. 

सिंह ने कहा कि एनसीपी प्रदेश में किसानों को बिजली, पानी मुफ्त करने के साथ उनकी कर्ज माफी, प्रदेश के शिक्षा के स्तर में उल्लेखनीय सुधार, महिला अपराधों में कमी के साथ उनकी सुरक्षा में सुधार तथा युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के मुद्दे के साथ चुनाव मैदान में उतरने जा रही है. 

उन्होंने दावा किया कि प्रदेश में बीजेपी के पिछले 15 वर्ष के शासनकाल में समाज का हर तबका परेशान है. घोषणा पत्र में प्रदेश में युवाओं के लिये ‘कैरियर एक्यूबेशन सेंटर’ की स्थापना, शिक्षा के क्षेत्र में अस्थायी नियुक्तियों की व्यवस्था खत्म करने,महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चत करने, तथा पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने का वादा किया गया है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close